More

    नेताजी के योगदान को मिटाने का प्रयास किया गया : शाह

    कोलकाता: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, जो पश्चिम बंगाल की दो दिवसीय यात्रा पर हैं, उन्होंने शुक्रवार को कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान को मिटाने की कोशिश की गई थी, लेकिन वे अभी भी लगातार नागरिकों को प्रेरित कर रहे हैं।

    पश्चिम बंगाल दौरे के दूसरे दिन गृह मंत्री अमित शाह ने नेशनल लाइब्रेरी में शौर्यांजलि कार्यक्रम में हिस्सा लिया, जहां उन्होंने पश्चिम बंगाल के आइकन को श्रद्धांजलि अर्पित की।

    इसके अलावा उन्होंने बिप्लबी बंगला शीर्षक से एक प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया।

    - Advertisement -

    गृह मंत्री ने तीन समूहों में एक साइकिल यात्रा को भी हरी झंडी दिखाई, जो 900 किलोमीटर की यात्रा करके जनता के बीच बंगाल आइकन के बारे में जागरूकता पैदा करेगी।

    शाह ने कहा कि देश नेताजी को बहुत प्रेम से याद करता है और उनकी बलिदान और वीरता को पीढ़ियों तक याद रखा जाएगा।

    - Advertisement -

    शाह ने कहा, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और देश के लिए किए गए बलिदानों को हर कोई याद करता है। उनके योगदान को मिटाने का प्रयास किया गया, लेकिन वह पीढ़ियों को प्रेरित करते रहे।

    शाह ने कहा कि इस वर्ष नेताजी को उनकी 125वीं जयंती पर श्रद्धांजलि देने के लिए, केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक समिति बनाई है।

    युवाओं से नेताजी के जीवन के बारे में पढ़ने की अपील करते हुए शाह ने कहा कि उनका जीवन आपको बहुत कुछ सिखाएगा।

    - Advertisement -

    शाह ने कहा, देश का भविष्य केवल युवा पीढ़ी द्वारा बनाया जा सकता है, जो देश के इतिहास को समझता है और उन लोगों का सम्मान करता है, जिन्होंने देश के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया है।

    शाह द्वारा रवाना की गई साइकिल यात्रा के एक समूह का नाम नेताजी के नाम पर रखा गया है, जबकि दो समूहों का नाम स्वतंत्रता सेनानी रास बिहारी बोस और खुदीराम बोस के नाम पर रखे गए हैं।

    उन्होंने कहा कि साइकिल यात्रा पूरे पश्चिम बंगाल के गांवों का दौरा करेगी और लोगों को देश के लिए स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा दिए गए बलिदानों के बारे में बताएगी।

    spot_imgspot_img
    spot_img

    Get in Touch

    62,437FansLike
    86FollowersFollow
    0SubscribersSubscribe

    Latest Posts

    1