More

    हजारीबाग में कांग्रेस की ट्रैक्टर रैली, आरपीएन सिंह ने कहा- नये कृषि कानून जमाखोरों के लिए

    हजारीबाग: झारखंड प्रदेश के प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि पहले कानून के तहत अनाज भंडारण की सीमा कानूनन समाप्त कर दी गई है, जिससे अब अनाजों-फसलों की जमाखोरी बढ़ेगी।

    पूंजीपति कम मूल्य देकर फसल खरीदेंगे, भंडारण करेंगे एवं अधिक मूल्य पर बाजार में बेचकर अधिकतम मुनाफा कमाएंगे। इससे किसानों को कोई लाभ नहीं होगा।

    हजारीबाग जिला कांग्रेस कमिटी के तत्वावधान में शनिवार को गांधी मैदान में केन्द्र सरकार के द्वारा पारित किये गये तीन कृषि कानून के विरोध में राज्य स्तरीय किसान सम्मेलन तथा विशाल ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया गया।

    - Advertisement -

    आरपीएन सिंह सम्मलेन को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

    वहीं राज्य सरकार के मंत्री सह प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा कि दूसरा कानून सरकारी कृषि मंडियां व बाजार ध्वस्त हो जाएंगी। अब निजी मंडियां फसलों की कीमतें तय करेंगी।

    - Advertisement -

    किसानों को फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलेगा। कृषि क्षेत्र में रोजगार खत्म हो जाएंगे।

    कार्यक्रम के संयोजक सह कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि तीसरा कानून पूंजीपति, निजी निवेशक व कम्पनियां किसानों के साथ अपने शर्तो पर व्यवसायिक समझौता करेंगे।

    किसान अपने ही खेत में मजदूर बना दिए जाएंगे।

    - Advertisement -

    समझौते में किसी प्रकार का विवाद होने पर किसानों को अफरशाही एवं अदालतों का चक्कर काटना पड़ेगा।

    कानूनी दाव-पेचों में किसानों को उलझाकर उनका शोषण किया जाएगा।

    इस प्रकार इन तीनों कानूनों से किसानों को लाभ नहीं बल्कि उनका दोहन और शोषण ही किया जायेगा।

    मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि सन 1918 मे कांग्रेस ने गांधी जी, सरदार बल्लभ भाई पटेल के नेतृत्व में किसानों पर लगान बढ़ोतरी के विरुद्ध गुजरात में खेड़ा सत्याग्रह किया।

    पूर्व प्रधान मंत्री लाल बहादुर जी ने कृषि क्षेत्र में विशेष बल देते हुए जय जवान जय किसान का नारा दिया।

    बड़कागांव विधायक अंबा प्रसाद ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों को छोड़ पूंजीपतियों को बचाने में लगी है।

    किसान नहीं बचेंगे तो खाना कहां से मिलेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री पर किसानों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया।

     कहा कि कृषि कानूनों से किसान मजदूर बन जाएंगे।

    झरिया विधायक पूर्णिमा सिंह ने कहा कि कांग्रेस का किसानों के साथ नैतिक और सांकेतिक समर्थन है।

    बरही विधायक उमाशंकर अकेला ने केंद्र सरकार पर देश का मान सम्मान बढ़ाने वाले किसानों को बेचने का आरोप लगाया।

    उन्होंने  कहा कि सरकार रेलवे स्टेशन, हवाई जहाज, एलआईसी और बीएसएनएल भी बेचने का काम कर रही है।

    रामगढ़ विधायक ममता देवी ने कहा कि झारखंड की सरकार और मुख्यमंत्री ने हवाई चप्पल वालों को हवाई जहाज पर चढ़ाने का काम किया।

    उन्होंने कृषि कानूनों की आलोचना करते हुए कहा कि इससे किसान मजदूर और मजबूर हो जाएंगें।

    बेरमो विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनुप सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार अडानी अंबानी के हित के लिए काम कर रही है।

    सभा को  कृषि मंत्री राज्य सभा सदस्य धीरज प्रसाद साहू, सांसद गीता कोड़ा, विधायकों में , राजेश कच्छप, विल्सन कोनगाड़ी,दिपीका पाण्डेय, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय, पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी, नियल तिर्की,जय शंकर पाठक प्रदेश कार्यकारीअध्यक्ष केशव महतो कमलेश, इरफान अंसारी, राजेश ठाकुर, मानस सिन्हा, संजय लाल पासवान, केदार पासवान,अभिलाष साहू पूर्णिमा सिंह के अतिरिक्त किसान तथा कांग्रेसी कार्यकर्ताओं समेत करीब 20 हजार लोग उपस्थित थे।

    spot_imgspot_img
    spot_img

    Get in Touch

    62,437FansLike
    86FollowersFollow
    0SubscribersSubscribe

    Latest Posts

    1