More

    सोशल डिस्टेंसिंग घटते ही फिर से बढ़ने लगा कोरोना का कहर

    नई दिल्ली : भारत में कोरोना की एंट्री को लगभग एक साल हो चला है। टीका आने तक लॉकडाउन जैसे कई फैसलों से इस वायरस के संक्रमण से बचने की कोशिशें की गईं।

    अब टीकाकरण के साथ ही नियम भी ढीले पड़ गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का भी ठीक से पालन नहीं किया जा रहा है। लिहाजा, इसके नतीजे भी नकारात्मक आ रहे हैं।

    सामूहिक तौर पर लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। बेंगलुरु की ताजा घटना इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। जहां एक अपार्टमेंट में पार्टी की गई। लोगों ने खूब एन्जॉय किया।

    - Advertisement -

    कोरोना टेस्ट किया गया तो 103 लोग पॉजिटिव पाए गए।

    सामूहिक तौर पर इतने लोगों का कोरोना पॉजिटिव आना उन दिनों जैसा है, जब कोरोना अपने पीक पर था।

    - Advertisement -

    बेंगलुरु के मंजूश्री कॉलेज ऑफ नर्सिंग के 210 छात्रों में से 40 छात्र कोरोना पॉजिटिव आए हैं, इनमें से कुछ को अस्पताल में भी भर्ती कराना पड़ा है।

    आंकड़े थोड़ा डराने वाले हैं, क्योंकि कोरोना ने जब से दुनिया को अपनी जद में लिया है, तब से ही हर वैज्ञानिक और डॉक्टर ने एक-दूसरे से दूरी बनाने की ही सलाह दी है।

    टीका आने के बावजूद भी चेहरे पर मास्क पहनने और आपसे में उचित दूरी बनाए रखने की सलाह कोरोना गाइडलाइंस में सबसे ऊपर हैं।

    - Advertisement -

    खासकर केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु में कोरोना का कहर थमता नहीं दिख रहा। लगातार बड़ी तादाद में कोरोना के केस सामने आ रहे हैं।

    साउथ अफ्रीकी और ब्राजील के कोरोना वेरिएंट की भी एंट्री भारत में हो गई है।

    खतरा कहीं से भी कम होता हुआ नहीं दिख रहा है। हैरानी की बात यह भी है कि भारत में अभी सिर्फ हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वॉरियर्स को कोरोना के टीके लगाए जा रहे हैं।

    हाल ही में वैक्सीन की दूसरी डोज देनी शुरू की गई है।

    यानी आम लोग अभी कोरोना वैक्सीन से काफी दूर हैं। यही वजह है कि टीकाकरण अभियान की शुरुआत के समय पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा था कि मास्क लगाना न भूलें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें।

    हालांकि, आम लोग इस नियम का उल्लंघन करने से परहेज नहीं कर रहे हैं। हाल ही में गुजरात गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

    गुजरात में निकाय चुनाव हो रहे हैं और रुपाणी वडोदरा में चुनाव में प्रचार के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान वह मंच पर चक्कर खाकर गिर पड़े थे।

    हॉस्पिटल में पहुंचने पर उनका चेकअप किया गया तो वह कोरोना पॉजिटिव निकले। रुपाणी के साथ दो और नेता भी पॉजिटिव पाए गए हैं।

    मध्य प्रदेश के इंदौर में भी कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़ने लगी है। मंगलवार रात इंदौर में 89 नए केस आए हैं, इनमें से 26 लोग वे हैं जो एक ही जगह काम करते थे।

    ये सभी लोग एक निजी कंपनी में कार्यरत हैं। इस कंपनी के 100 से ज्यादा कर्मचारियों के टेस्ट किए गए थे, जिनमें 26 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

    spot_imgspot_img
    spot_img

    Get in Touch

    62,437FansLike
    86FollowersFollow
    0SubscribersSubscribe

    Latest Posts

    1