झारखंड

झरखंड : लॉकडाउन की वजह से आर्थिक तंगी से परेशान बाप-बेटे ने की आत्महत्या

जमशेदपुर: लॉकडाउन के चलते आर्थिक तंगी, परिवारिक बोझ और जिम्मेदारी से परेशान पिता सपन पाल (55)ने अपने दृष्टिहीन बैठे पिंकू पाल (22) के साथ आत्महत्या कर ली।

दोनों बाप बेटे का शव सोमवार की रात एक ही रस्सी से लटका पाया गया। सूत्रों के अनुसार सरायकेला जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बड़ा गम्हरिया ऊपर पाड़ा में आर्थिक तंगी का दंश झेल रहे।

पिता ने बेटे की मानसिक बीमारी और अंधेपन से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। सपन पाल स्टेशनरी की छोटी-मोटी दुकान चलाते थे।

मंगलवार सुबह पुलिस ने बाप-बेटे के शव को सदर अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बताया जाता है मृतक सपन पाल की पत्नी अपने परिजनों के साथ बगल के बांका पाड़ा में शादी समारोह में गयी थी, जहां देर रात पत्नी को भी घटना की जानकारी मिली।

खबर मिलते ही रिश्तेदार के शादी समारोह से सभी भागे भागे घर पहुंचे और शादी का माहौल भी पल भर में गमगीन हो गया।

मृतक सपन पाल और उसकी पत्नी ने दृष्टिहीन बेटे का काफी इलाज कराया लेकिन वह स्वस्थ नहीं हो सका था।

नतीजतन दोनों पति-पत्नी काफी तनाव में रहते थे और आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button