क्राइमझारखंड

झारखंड : इस तरह पुलिस की नाकेबंदी में फंसी अपहरण करने वालों की कार, व्यावसाई का पुत्र बरामद, तीन गिरफ्तार

खूंटी: छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के खरसिया थाना क्षेत्र के मध्य छपरीगंज के व्यवसायी रमेश अग्रवाल का अपहृत छह वर्षीय पुत्र शिवांश सकुशल मिल गया।

खूंटी पुलिस ने शनिवार की रात लगभग सवा बारह बजे वाहन चेकिंग के दौरान खूंटी मेन रोड पर एक कार से बरामद किया।

पुलिस ने तीन अपहरणकर्ताओं को भी गिरफ्तार किया है। घरेलू नौकर ने ही अपहरण की साजिश रची थी।

रविवार को पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने बताया कि उन्हें छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के एसपी से सूचना मिली कि शिवांश का अपहरण कर अपहर्ता उसे लेकर खूंटी से रांची की आर जा रहे हैं।

सूचना मिलते ही रात को ही तोरपा, खूंटी, कर्रा, जरियागढ़ के थाना प्रभाारियों को तुरंत गहन वाहन जांच अभियान चलाने का निर्देश दिया गया था।

वाहन जांच के दौरान खूंटी थाना क्षेत्र में एक सफेद आर्टिगा कार से बच्चे को सकुशल बरामद कर तीन अपहर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया।

शेखर ने बताया कि गिरफ्तार अपहर्ता खिलावन दास महंत, सरवानी थाना बाराद्वारा जांजगीर छत्तीसगढ़ का रहने वाला है, जबकि अमर दास और संजय किरार नवापारा खरसिया छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं।

बच्चे की सकुशल बरामदगी करने वाली टीम में खूंटी के थाना प्रभारी जयदीप टोप्पो, एसआई पुष्पराज कुमार, अजय कुमार भगत, एएसआई डोमन टुडू और सशस्त्र बल के जवान शामिल थे।

उन्होंने बताया कि बच्चे की सकुशल रिहाई की सूचना मिलने पर खरसिया थाना पुलिस रविवार को खूंटी पहुंची और बच्चे के साथ तीनों अपहताओं को अपने साथ ले गयी है।

इस संबंध में रायगढ़ के खरसिया थाने में मामला दर्ज किया गया है।

शनिवार शाम को ही हुआ था शिवांश का अपहरण

बताया गया कि रायगढ़ के खरसिया थाने के छपरीगंज के व्यापारी के पुत्र शिवांश का अपहरण शनिवार की शाम को ही किया गया था।

मुख्य आरोपित खिलावन दास महंत व्यापारी रमेश अग्रवाल के घर कई महीने से खाना बनाने का काम करता था। कुछ दिन पहले घर के एक सदस्य के साथ नोकझोंक करने पर उसे काम से निकाल दिया गया था।

इस बीच शनिवार की शाम पांच बजे वह रमेश अग्रवाल के घर कुछ सामान छूटने की बात कहकर आया था।

तभी वह व्यापारी अग्रवाल के छह वर्षीय पुत्र शिवांश को चाॅकलेट खिलाने के बहाने लेकर घर से लेकर निकल गया।

काफी देर तक जब शिवांश वापस नहीं आयाए तब स्वजनों को चिंता हुई। स्वजनों ने रसोइया खिलवान को फोन लगाया तब उसका मोबाइल फोन बंद मिला।

इसके बाद स्वजनों की परेशानी बढ़ गयी। उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस सक्रिय हो गई।

सीसीटीवी कैमरे को खंगालने पर कैमरे में रसोइया खिलावन अपहृत बालक को अपनी बाइक पर बैठाकर रायगढ़ की ओर आते दिखाई दिया।

इस बीच पुलिस ने पड़ोसी राज्यों के पुलिस अधिकारियों से भी सम्पर्क किया और अंततः खूंटी में तीनों अपहर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button