झारखंड

मुख्यमंत्री प्रश्नकाल में नीतिगत प्रश्न ही आए इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा: स्पीकर

रांची : झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रवीन्द्रनाथ महतो आगामी बजट सत्र के निमित्त अपने कार्यालय कक्ष में विधायक दल के नेताओं के साथ बुधवार को बैठक की।

बैठक में मुख्यमंत्री सह नेता झारखंड मुक्ति मोर्चा हेमंत सोरेन, आलमगीर आलम संसदीय कार्य मंत्री सह नेता भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, सत्यानंद भोक्ता मंत्री सह नेता राष्ट्रीय जनता दल, विरंची नारायण मुख्य सचेतक प्रतिपक्ष, लंबोदर महतो प्रतिनिधि आजसू पार्टी, प्रदीप यादव नेता झारखंड विकास मोर्चा (प्र), विनोद सिंह नेता सीपीआई (एमएल) एवं सरयू राय निर्दलीय उपस्थित थे।

बैठक में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि सभी सदस्य शून्यकाल की समय सीमा एवं शब्द की मर्यादा को ध्यान रखें ताकि सभी माननीय सदस्यों को अपने शून्य काल का समय मिल पाए।

मुख्यमंत्री प्रश्नकाल के सदुपयोग करने पर भी बैठक में चर्चा हुई। मुख्यमंत्री प्रश्नकाल में नीतिगत प्रश्न ही आए इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा।

बैठक में इस बात पर भी विचार-विमर्श हुए कि लंबित ध्यानाकर्षणों के समय बढ़ा कर कार्यदिवसों के पूर्वाहन में ही रखा जाएगा।

अध्यक्ष ने यह भी कहा कि सभी दलों के नेताओं से अपेक्षा की जाती है कि प्रश्नकाल किसी भी प्रकार से बाधित नहीं हो, ताकि सभी सदस्यों को अधिक से अधिक समय मिल पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button