व्यापार

सैनिटाइजर और मास्क की ब्रिकी घटी, मार्च-सितंबर में प्रोडक्ट्स का प्रोडक्शन काफी अधिक बढ़ा

नई दिल्ली: कोरोना की वैक्सीन बन जाने के बाद से बड़ी कंपनियों ने सैनिटाइजर्स और मास्क का आउटपुट या तो घटा दिया है, या फिर रोक दिया है।

कोरोना में मार्च-सितंबर के दौरान इन कैटेगरी में प्रोडक्ट्स का प्रोडक्शन काफी अधिक बढ़ गया था।

डाबर के चीफ एग्जिक्युटिव मोहित मल्होत्रा ने कहा कि हाल के महीनों में हैंड सैनिटाइजर्स और कोरोना से बचने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सभी चीजों की मांग में कमी आई है।

डाबर सैनिटाइजर्स और हाइजीन से जुड़े प्रोडक्ट से बाहर निकलने की सोच रहा है, जिन्हें पिछले ही साल लांच किया था।

आईटीसी का कंज्यूमर गुड्स का बिजनेस दिसंबर तिमाही में बढ़ा था, लेकिन अब कंपनी के ब्रांडेड सैनिटाइजर्स की सेल में भारी गिरावट देखने को मिल रही है।

ऑनलाइन रिटेलर्स ने कहा कि सैनिटाइजर्स और मास्क की सेल में करीब 50 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है।

ग्रॉफर्स के प्रवक्ता ने कहा कि लॉकडाउन के बाद हैंड सैनिटाइजर्स और मास्क की बिक्री करीब 48 फीसदी गिरी है। रिटेल चेन ने भी कहा है कि हैंड सैनिटाइजर्स की सेल्स में गिरावट देखी जा रही है।

यहां तक कि सैनिटाइजिंग स्प्रे की बिक्री भी गिरी है। यानी कि लोगों ने तो मास्क और सैनिटाइजर्स का इस्तेमाल कम किया ही है, तमाम जगहों को सैनिटाइज करने में भी गिरावट आई है।

अपनी सेल को बढ़ाने के लिए बहुत सारी कंपनियों ने तो तमाम तरह के ऑफर भी देने शुरू कर दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button