क्राइमझारखंड

रांची नामकुम फायरिंग मामले में बिहार के दो शूटर गिरफ्तार

रांची: नामकुम थाना क्षेत्र के काली नगर आरओ वाटर प्लांट के समीप बीते 19 दिसंबर को फायरिंग मामले में पुलिस ने बिहार के दो शूटरों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार शूटरों में छोटेलाल राय उर्फ सत्येंद्र राय और शैलेश कुमार शामिल है।

छोटेलाल राय बिहार के सारण जिले के बनियापुर और शैलेश कुमार सारण जिले के शाहजिद पुर थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। इनके पास से एक मोबाइल फोन बरामद किया गया।

एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि मुकेश झा और नीरज झा के बीच पैसे के लेनदेन को लेकर पुरानी अदावत के कारण यह घटना हुई थी।

इसमें आपराधिक प्रवृत्ति का सुधीर सोम उर्फ टप्पू, निशांत निखिल सौरभ, बबलू ठाकुर, मंजूर आलम, सहित अन्य लोग शामिल हैं।

एसएसपी ने बताया कि दोनों ने पूछताछ में बताया कि एसपी ने बताया कि मामले को लेकर एसआईटी टीम का गठन किया गया।

टीम का नेतृत्व डीएसपी नीरज कुमार कर रहे थे। तकनीकी अनुसंधान चोरी घटना में शामिल दो शूटरों को गिरफ्तार किया।

छापेमारी टीम में नामकुम थाना प्रभारी प्रवीण कुमार, रंजीत कुमार, अमीनेस शांति कारी और रांची एसएसपी के क्यूआरटी टीम शामिल थे।

उल्लेखनीय है कि बीते 19 दिसंबर को फायरिंग में मुकेश झा के बाह व जांघ में, रंजीत सिंह उर्फ बंगाली और प्रवीण कुमार को हाथ में गोली लगी थी।

शूटरों ने पुलिस को बताया कि मुकेश झा और नीरज झा जमीन कारोबारी है। जमीन विवाद को लेकर दोनों में आपसी रंजिश चल रही है।

नीरज झा ने रांची के बड़े जमीन कारोबारी से मिलकर मुकेश झा को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया था। वहीं फायरिंग का मुख्य आरोपी नीरज झा 24 जनवरी से लापता है।

गिरफ्तार शूटरों की पहचान फायरिंग में घायल तीनों ने की है। वहीं नीरज झा का लगभग 20 दिन बाद भी सुराग नहीं मिलने से पुलिस असंजस की स्थिति में है।

हत्या के लिए पांच लाख की सुपारी दी गई थी। जिसमें 20 हजार रुपए एडवांस दिया गया था। पुलिस ने पूर्व में हत्या की साजिश में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button