झारखंड

बिरसा मुंडा के सपने अब भी अधूरे: माले

रांची: बिरसा तेरे सपने अधूरे हम मिलजुल कर करेंगे पूरे। जल, जंगल और जमीन पर जनाधिकार के लिए संघर्ष तेज करो के नारे के साथ भाकपा माले रांची के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को कोकर स्थित बिरसा मुंडा के समाधी स्थल पर धरती आबा को पुष्पांजली अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

माले जिला सचिव भुवनेश्वर केवट ने कार्यकर्ताओं को अपने संबोधन में कहा कि प्राकृतिक और आर्थिक संसाधनों की लूट के खिलाफ़ ही धरती आबा ने संघर्ष किया।

आज देश में भी कम्पनी राज स्थापित कर लोकतंत्र और जनाधिकारो पर हमला किया जा रहा है। जंगल जमीन और जनाधिकार की बात करने वाले आज भी जेलों में बंद हैं ।

भुखमरी पलायन और बेकारी के खिलाफ बिरसा का एक ओर उलगुलान जरुरी है।

मौके पर एपवा की प्रदेश महासचिव गीता मंडल ने कहा कि झारखंड में सता तो बदली पर झारखंडियों की हालात जस की तस है।

राज्य गठन के लम्बे अरसे बाद भी बेटियां के सपने चकनाचूर हो रहे हैं। झारखंड की बेटियां शोषण कुपोषण और पलायन की शिकार है।

राज्य की बेटियों को आर्थिक समाजिक स्तर पर बराबरी का आधिकार देकर ही बिरसा के सपनो को साकार कर सकते हैं।
श्रद्धांजलि कार्यक्रम में नंदिता भट्टाचार्य, पुष्कर महतो, राजेंद्र दास, इनामुल हक, तरुण कुमार सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button