झारखंड

पलामू उपायुक्त बोले, संभावित तीसरे वेव से बच्चों को बचाना हमारी प्राथमिकता

मेदिनीनगर: उपायुक्त शशि रंजन ने जूम एप तथा यूट्यूब चैनल के माध्यम से शुक्रवार को ऑनलाइन संवाद स्थापित किया।

ऑनलाइन संवाद के क्रम में उपायुक्त ने बताया कि वर्तमान में बच्चे, बूढ़े सभी कोविड-19 के बारे में जानते हैं।

उपायुक्त ने बताया कि पिछले वर्ष की तुलना इस वर्ष कोरोना की वेव अत्यंत घातक है।

जहां पिछले वर्ष 2020 में पूरे पलामू में सिर्फ 20 लोगों की मृत्यु हुई थी वहीं, इस वर्ष सिर्फ 2 महीने में 110 लोगों की मृत्यु पलामू जिले में हो चुकी है। कोरोना का यह वैरियंट काफी घातक है।

लोगों को अपने तथा अपने परिवारजनों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने की जरूरत है।

अगर आप में लक्षण दिखाई देता है तो आप तुरंत कोरोना का जांच कराएं। इसको टाल देने से आप अपने तथा परिवारजनों के लिए जोखिम मोल लेंगे।

उपायुक्त ने बताया कि दूसरे लहर में ज्यादातर युवा लोग प्रभावित हुए। संभावित तीसरे लहर से बच्चे प्रभावित होंगे। हमें हर हाल में पलामू के बच्चों को कोरोना से बचाना है।

ऐसे में आवश्यक यह है कि बच्चों के आसपास रहने वाले सभी लोगों का टीकाकरण कर दिया जाए। बच्चों के लिए वैक्सीन अभी नहीं आई है किंतु 18 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध है।

उपायुक्त ने बताया कि जिले में अब तक 2 लाख 80 हज़ार से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना का वैक्सीन ले लिया है, सभी सुरक्षित हैं।

उन्होंने बताया कि पलामू जिले के 10 हज़ार से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों ने भी वैक्सीन ले रखा है।

वे वैक्सीन लेकर अस्पताल में आ रहे कोरोना के मरीजों की देखभाल में लगे हुए हैं, सभी स्वास्थ्य कर्मी सुरक्षित हैं।

उपायुक्त ने बताया कि वैक्सीन लेने से व्यक्तियों कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है ऐसे में कोरोना लोगों पर हावी नहीं होता है।

ऑनलाइन संवाद के दौरान उपायुक्त उपस्थित शिक्षकों से भी रूबरू हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button