बिहार

कानून बनाकर जनसंख्या नियंत्रण संभव नहीं: नीतीश कुमार

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून बनाने पर अपनी राय रखते हुए कहा कि कानून बनाकर जनसंख्या नियंत्रण करना संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए महिलाओं को शिक्षित करना होगा।

नीतीश सोमवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून लाने से बहुत लाभ नहीं होने वाला है। इसके लिए महिलाओं को शिक्षित और जागरुक करना जरूरी है।

उन्होंने इसके लिए चीन सहित अन्य देशों का उदाहरण देते हुए कहा कि चीन सहित कई देशों में इसके लिए कानून लाया गया, क्या हाल है देख लीजिए।

उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि अलग-अलग राज्यों की अपनी-अपनी सोच है, जो करना चाहें करें, लेकिन हमारी राय यह है कि सिर्फ कानून बनाने से जनसंख्या नियंत्रित नहीं होगी। उन्होंने कहा कि हमारी सोच सभी समुदाय पर काम करेगी।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान मजकिया लहजे में कहा कि कुछ लोग तो अपवाद होंगे ही।

पत्रकारों द्वारा न्यायालय द्वारा समान नागरिक संहिता की बात किए जाने के संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, आप बताइये कि कॉमन सिविल कोड किस नंबर पर है ? आर्टिकल 44 की बात हो रही है। जरा आर्टिकल 47 भी देख लीजिये। हमलोगों ने बिहार में शराबबंदी लागू की। इन सब चीजों पर ध्यान देते हैं तो शराबबंदी को लेकर भी ध्यान दीजिये। शराबबंदी पूरे देश में हो।

राज्य में बाढ़ की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि जब से हमारी सरकार बनी है, तब से हम इसे लेकर गंभीर हैं।

हमने हवाई सर्वेक्षण कर सभी स्थिति का जायजा लिया है। हमने जिलाधिकारी को बाढ़ पीड़ितों की हरसंभव मदद के निर्देश दिये हैं।

Back to top button