बेटी की हित में फैसले लेते हैं ब्रिटनी के पिता

लॉस एंजेलिस: दुनियाभर में मशहूर गायिका ब्रिटनी स्पीयर्स के पिता जेमी का कहना है कि वह अपनी बच्ची के हित को ध्यान में रखते हुए अपना हर फैसला लेते हैं।

12 साल पहले अपने पति से अलग होने के बाद ब्रिटनी पूरी तरह से टूट गई थीं, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में एडमिट कराया गया था और फिर उन्हें एक संरक्षण (रिहैब सेंटर) में भेज दिया गया था।

ब्रिटनी तभी से कंजरवेटरशिप में हैं यानि कि उनसे जुड़े वित्तीय मामलों के फैसले वह खुद से नहीं ले सकती। इसकी जिम्मेदारी कानूनन उनके पिता और एक वकील को दी गई है।

ब्रिटनी के पिता ने सीएनएन को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि उन्हें जल्द से जल्द इस जिम्मेदारी से छुटकारा मिले।

पीपल डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, जेमी के साथ मिलकर ब्रिटर्नी के वित्तीय मामलों की देखरेख करने वाले उनके वकील विवियान ली थोरीन ने कहा, जेमी को कंजरवेटरशिप नहीं चाहिए, वह बस ब्रिटनी को सही-सलामत देखना चाहते हैं।

हालांकि कंजरवेटरशिप को खत्म करना पूरी तरह से ब्रिटनी के ऊपर है। अगर वह इसे खत्म करना चाहती हैं, तो वह एक याचिका दायर कर सकती हैं।

वह आगे कहते हैं, हर एक माता-पिता की तरह जेमी ब्रिटनी के मन-मुताबिक फैसले तो नहीं लेते हैं, लेकिन उनका मानना है कि वह जो भी करते हैं, उसमें उनकी बेटी की भलाई है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button