किसानों को देशद्रोही कहने वाला देशभक्त नहीं हो सकता : प्रियंका

सहारनपुर: कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने किसान महापंचायत में भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला और कहा कि किसानों को देशद्रोही कहने वाला और उसका मजाक उड़ाने वाला देश भक्त नहीं हो सकता।

प्रियंका गांधी बुधवार को सहारनपुर के चिलकाना में किसान महापंचायत को संबोधित कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि पीछे मत हटिए।

कांग्रेस की सरकार आई तो कृषि कानूनों को रद्द किया जाएगा।

उन्होंने कहा सरकार सरकारी मंडियों को खत्म करने की कोशिश में है। सरकार सब कुछ बेचना चाहती है।

उन्होंने कहा इन कानूनों से सिर्फ कुछ लोगों को फायदा होगा। कहा किसानों को देशद्रोही कहने वाला और उसका मजाक उड़ाने वाला देश भक्त नहीं हो सकता।

प्रियंका गांधी ने कहा कि पीएम के 56 इंच के सीने में छोटा सा दिल है, जो किसानों के लिए नहीं अपने खरबपति दोस्तों के लिए धड़कता है।

उन्होंने कहा जिसने रेलवे बेच दिया, कई सरकारी उपक्रम बेच दिए उस पर अब देशवासी भरोसा नहीं कर सकते हैं।

गन्ना किसानों की बात करते हुए कहा कि किसानों का 15 हजार करोड़ रुपये भुगतान नहीं दिया गया, 16 हजार करोड़ में अपने लिए दो जहाज खरीद डाले और 20 हजार करोड़ रुपए संसद भवन के सुंदरीकरण के लिए खर्च कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, तीनों कृषि कानून उस राक्षस की तरह हैं, जैसे राक्षस दुर्गम ने तबाही मचाई थी और फिर मां शाकंभरी ने लोगों का दुख दूर किया था।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरी तरह किसानों और मजदूरों के साथ है, अब यह आंदोलन थम नहीं पाएगा। पहला कानून जमाखोरी के दरवाजे खोलेगा।

पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने जमा खोरी बन्द कराई थी। यह नया कानून खरबपतियों को मदद करेगा। आपकी फसल कैसे खरीदी जाए खरबपति तय करेंगे।

सरकारी मंडी डम्प हो जाएंगी। जमाखोर प्राइवेट मंडी में सामान डम्प करेंगे। जब चाहेंगे माल निकालेंगे।

कहा कि कांट्रेक्ट फामिर्ंग में धोखा मिलेगा। कम्पनी मनमाना दाम तय करेगी। सरकारी मंडी बन्द होगी। एमएसपी बंद होगी, जमाखोरी बढ़ेगी। किसान की आवाज दबेगी।

अरबपतियों की आवाज ही रहेगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि सत्ता में आते ही 15 हजार करोड़ का गन्ना भुगतान ब्याज समेत होगा। अब तक बकाया भुगतान नहीं हुआ।

2 हवाई जहाज 16 हजार करोड़ में खरीदे गए।

पीएम मोदी की जुबान पक्की नहीं है। दिल्ली में संसद भवन के सौन्दर्यीकरण के लिए 20 हजार करोड़ रखे। लेकिन किसानों को कोई भुगतान नहीं किया।

किसान का बेटा सीमा पर शहीद होता है। किसान का बेटा पीएम की सुरक्षा करता है। पीएम किसान को नहीं पहचान रहे। रोज किसान को अपमानित कर रहे।

कहते हैं यह आतंकवादी हैं, संसद में किसान का अपमान किया। आंदोलनगीरी कहकर अपमान किया। ऐसा व्यक्ति देशभक्त नहीं हो सकता। 78 दिन से किसान बॉर्डर पर है।

ज्ञात हो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सहारनपुर के मां शाकंभरी देवी मंदिर पहुंचकर सबसे पहले मत्था टेका। इस दौरान प्रियंका गांधी ने राजनीति में सफलता प्राप्त करने के लिए मंदिर में पूजा-अर्चना कर संकल्प लिया।

इसके बाद वह ग्राम रायपुर स्थित खानकाह में हजरत रायपुरी की दरगाह के लिए रवाना हो गईं।

यहां हाजिरी लगाने के बाद उन्होंने चिलकाना में किसान महापंचायत को संबोधित किया। इस दौरान उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और कांग्रेस नेता इमरान मसूद रहे।

Back to top button