बंगाल फतह करने मैदान में उतरे दिल्ली भाजपा के नेता

कोलकाता: बंगाल में कमल खिलाने को भाजपा बेताब है। चुनावी रण में पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित अन्य वरिष्ठ नेता चुनावी सभाएं व रोड शो करके भाजपा के पक्ष को जनता के बीच पूरे दमखम से रख रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सात मार्च को कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में चुनावी सभा को संबोधित कर चुके हैं।

आने वाले दिनों में उनकी कई चुनावी सभाएं होनी हैं। पार्टी की बंगाल विजय की कोशिश में दिल्ली भाजपा के नेता भी योगदान दे रहे हैं।

आने वाले दिनों में दिल्ली की महिला नेताओं की टीम बंगाल जाकर चुनाव प्रचार करेंगी।

दिल्ली के नेता अलग-अलग राज्यों में होने वाले चुनाव में अलग-अलग स्तर पर योगदान देते रहे हैं।

बूथ प्रबंधन, चुनाव प्रचार व बड़े नेताओं की रैलियों के प्रबंधन की जिम्मेदारी यहां के नेता संभालते रहे हैं।

अन्य राज्यों की तरह बंगाल विधानसभा चुनाव में भी दिल्ली के नेता अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष व उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी का नाम बंगाल चुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की सूची में है। वहां वे कई चुनावी सभाओं को संबोधित कर चुके हैं।

वहीं, सांसद रमेश बिधूड़ी को सोनार उत्तर, सोनार दक्षिण, भांगुर, दक्षिण कोलकाता, कस्बा व जादवपुर विधानसभा क्षेत्र की जिम्मेदारी दी गई है।

पश्चिमी दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा के जिम्मे आराम बाग, गोघट, खानाकुल व पुरसुरा विधानसभा क्षेत्र है।

वहीं, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय को बालघर, पंडुआ, सप्तग्राम, चंडितला व श्रीरामपुर विधानसभा क्षेत्र में पार्टी को जीत दिलाने की जिम्मदारी मिली है।

तीनों नेता पिछले कई दिनों से बंगाल के स्थानीय नेताओं के साथ मिलकर बूथ प्रबंधन को धार दे रहे हैं।

दिल्ली भाजपा के महामंत्री कुलजीत सिंह चहल भी पिछले करीब एक पखवाड़े से बंगाल में डेरा डाले हुए हैं। इन्हें प्रधानमंत्री की रैलियों की व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button