झारखंड में अब आसान नहीं ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना, सरकार ने दोगुनी कर दी कंडक्टर लाइसेंस, गाड़ियाें की जांच समेत 150 तरह की फीस

200 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य

रांची: अगर आप भी ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्लािनंग कर रहे हैं तो आपके लिए यह बेहद जरूरी खबर है। जी हां, झारखंड में अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना आसान नहीं होगा।

राज्य सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस के साथ ही कंडक्टर लाइसेंस, गाड़ियाें की जांच समेत ट्रांसपाेर्ट से जुड़ी करीब 150 तरह की फीस को लगभग दाेगुनी कर दी है।

कैबिनेट ने मंगलवार काे झारखंड मोटरगाड़ी (संशोधन) नियमावली- 2021 पर स्वीकृति भी दे दी। कैबिनेट ने कुल 19 प्रस्तावाें काे मंजूरी दी।

200 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य

एक अन्य महत्वपूर्ण फैसले में कैबिनेट ने भारतीय मुद्रांक अधिनियम 1899 के तरत स्टांप फीस में भी बढ़ाेतरी की है। यह बढ़ाेतरी दत्तक बंध पत्र, एफिडेविट, एग्रीमेंट और मेमाेरेंडम ऑफ एग्रीमेंट सहित 100 तरह की स्टांप फीस में की गई है।

झारखंड में अब आसान नहीं ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना, सरकार ने दोगुनी कर दी कंडक्टर लाइसेंस, गाड़ियाें की जांच समेत 150 तरह की फीस

इससे राज्य काे करीब 200 कराेड़ रुपए के अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति हाेगी। हालांकि, सरकार ने मनाेरंजन कर, काेर्ट फीस और मुद्रांक से जुड़े दस्तावेजाें पर लगने वाले 110 प्रतिशत सरचार्ज काे वापस ले लिया है।

राज्यकर्मियाें का डीए 11 परसेंट बढ़ा

कैबिनेट ने राज्यकर्मियों के वेतन एवं पेंशन भोगियों का महंगाई भत्ता 11% बढ़ा दिया है। अब उन्हें 17% की जगह 28 प्रतिशत डीए मिलेगा।

यह बढ़ाेतरी एक जुलाई 2021 से प्रभावी हाेगी। केंद्र सरकार ने भी हाल ही में अपने कर्मचारियाें का डीए 11 प्रतिशत बढ़ाया था। झारखंड सरकार भी केंद्र सरकार की तरह जनवरी 2020 से जून 2021 तक के एरियर का भुगतान नहीं करेगी।

स्टांप शुल्क में भी भारी बढ़ोतरी

100 रुपए से अधिक के लोन से जुड़े दस्तावेज के लिए अब 10 रुपए लगेंगे। वहीं, एडाॅप्शन डीड के 2000 रुपए, एफिडेविट के लिए 20 रुपए देने हाेंगे। अचल संपत्ति की खरीद-बिक्री के लिए एग्रीमेंट पेपर 1000 रुपए और अग्रिम राशि 0.5% हाेगी।

डेवलपर द्वारा किए गए समझाैता पत्र एग्रीमेंट में दर्ज बाजार मूल्य का 2.5% हाेगा। किसी व्यक्ति या समूह द्वारा एक लाख रुपए से अधिक के काॅन्ट्रैक्ट पेपर का काॅन्ट्रैक्ट रेट 0.25% और 10 लाख से ऊपर हाेने पर 250 रुपए लगेगा।

वहीं पूर्व का एग्रीमेंट रद्द करने के लिए 500 रुपए देने हाेंगे। नीलामी या बेची गई संपत्ति से मिले धन का 3% देना हाेगा।

झारखंड में अब आसान नहीं ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना, सरकार ने दोगुनी कर दी कंडक्टर लाइसेंस, गाड़ियाें की जांच समेत 150 तरह की फीस

ट्रांसपाेर्ट से जुड़े इन शुल्काें में वृद्धि

सर्विस पहले अब (राशि रुपए में)

1- लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस 100 200
2- डाइविंग लाइसेंस 300 500
3- लाइसेंस का फाेटाे बदलने पर 60 100
4- ड्राइविंग लाइसेंस की दूसरी कॉपी 150 300
5- परमिट का अनुज्ञा पत्र 200 400
6- मेडिकल सर्टिफिकेट शुल्क 60 100
7- कंडक्टर लाइसेंस जांच फीस 100 200
8- कंडक्टर लाइसेंस स्वीकृति फीस 150 300
9- अपील फीस 150 300

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button