दिल्ली में कोरोना वायरस के साउथ अफ्रीका वेरिएंट का पहला मरीज मिला

नई दिल्ली:राजधानी दिल्ली में दिन-प्रतिदिन कोविड-19 के मामलों में हो रही वृद्धि के बीच कोरोना वायरस के साउथ अफ्रीका वेरिएंट का पहला मरीज मिलने की पुष्टि हुई है।

33 वर्षीय संक्रमित मरीज केरल का रहने वाला वाला है, उसे दिल्ली के लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल के स्पेशल वार्ड में रखा गया है। डॉक्टर उसकी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

जानकारी के अनुसार, मरीज की दिल्ली एयरपोर्ट पर की गई आरटी-पीसीआर जांच पॉजिटिव आने के बाद उसे दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में लाया गया।

चूंकि वह साउथ अफ्रीका से लौटा था इसलिए अधिकारियों को संदेह था कि यह नया कोरोना का वेरिएंट हो सकता है। हालांकि, उसमें किसी भी प्रकार के लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं।

एक डॉक्टर ने बताया कि उसे साउथ अफ्रीका वेरिएंट के संदिग्ध मरीजों के लिए बनाए गए विशेष वार्ड में भर्ती किया गया है। नया वेरिएंट के लिए उसकी जेनेटिक सीक्वेंसिंग रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

मरीज को किसी भी ऑक्सीजन सपोर्ट की आवश्यकता नहीं है, वह एसिंप्टोमैटिक है। डॉक्टर ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए उसे अलग रखा जाएगा ताकि संक्रमण दूसरों तक न फैले।

इससे पहले ट्रैवल हिस्ट्री वाले कई लोगों में कोरोना का यूके वेरिएंट पाया गया था। भारत में एक यात्री में ब्राजील वेरिएंट भी बताया गया है।

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 368 नए मामले सामने आए थे जबकि संक्रमण की दर 0.59 फीसदी पर रही। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, रविवार को लगातार चौथे दिन रोजाना 400 से अधिक संक्रमण के मामले सामने आए थे।

दिल्ली में शनिवार को संक्रमण के 419 जबकि रविवार को 407 नए मामले दर्ज किए गए थे। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, राजधानी में कोविड-19 के तीन और मरीजों ने दम तोड़ दिया, जिसके साथ ही मृतक संख्या बढ़कर 10,944 तक पहुंच गई।

इसके मुताबिक, इसी अवधि में सामने आए संक्रमण के नए मामलों के बाद दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 6,44,064 हो गई। वहीं, अब तक करीब 6.30 लाख से अधिक लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं।

हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में 2,321 एक्टिव मरीज हैं। इसके मुताबिक, शहर में रविवार को 62,272 नमूनों की जांच की गई। दिल्ली में फिलहाल 1,342 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

कोविड-19 के मामलों में वृद्धि को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा था कि जब तक पॉजिटिविटी रेट 1% से कम है राजधानी में महामारी की स्थिति नियंत्रण में है।

जैन बताया कि अभी दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट एक प्रतिशत के निशान से काफी नीचे है।

हम सतर्क हैं, लेकिन जब तक पॉजिटिविटी रेट एक प्रतिशत से नीचे है, तब तक स्थिति नियंत्रण में है। जैन ने कहा कि महाराष्ट्र और कुछ अन्य राज्यों में, जहां हाई पॉजिटिविटी रेट दर्ज किया जा रहा है, वहां पर स्थिति अलग है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button