21वीं सदी में 18वीं सदी की सोच से नहीं हो सकता किसानों का भला : मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि 21वीं सदी में 18वीं सदी की सोच से किसानों का भला नहीं हो सकता है।

कोरोना काल की विषम परिस्थितियों में भी देश में खाद्यान्नों का रिकॉर्ड उत्पादन होने में किसानों की मेहनत का जिक्र करते हुए मोदी ने लोकसभा में कहा कि कृषि सुधारों के जरिए सरकार किसानों के हितों के लिए काम करने का प्रयास कर रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नये कृषि कानून से देश के छोटे किसानों को फायदा होगा और उन्हें अपनी उपज बेचने को एक नया विकल्प मिलेगा।

Back to top button