दुनिया की 70 फीसदी आबादी को लगे टीका, तब खत्म होगी कोरोना माहमारी

जिनेवा: चीन के वुहान शहर से शुरू हुई कोरोना महामारी से दुनियाभर में मरने वालों की आधिकारिक संख्‍या 35 लाख को पार कर चुकी है।

भारत सहित पूरी दुनिया में अब तक 16 करोड़ से ज्‍यादा लोग महामारी से संक्रमित हो चुके हैं। महासंकट के बीच विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने चेतावनी दी है कि दुनिया से कोरोना महामारी जल्‍द खत्‍म नहीं होने जा रही है।

डब्‍ल्‍यूएचओ के डायरेक्‍टर हांस कुल्‍गे ने कहा कि जब तक 70 फीसदी आबादी को कोरोना का टीका नहीं लगा दिया जाता है, तब तक यह महामारी खत्‍म नहीं होगी।

हांस कुल्‍गे ने इसबात पर चिंता जाहिर कि कोरोना वैक्‍सीन लगाने की रफ्तार बेहद धीमी चल रही है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना खात्‍मे के लिए जरूरी है कि 70 फीसदी आबादी को टीका लगाया जाए। कुल्‍गे ने कहा कि उनकी चिंता की अब मुख्‍य वजह कोरोना के ज्‍यादा संक्रामक वेरिएंट हैं।

उन्‍होंने कहा कि भारत में मिला कोरोना वेरिएंट बी.1617 ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के स्‍ट्रेन बी.117 से ज्‍यादा संक्रामक है। रोचक बात यह है कि ब्रिटेन में मिला स्‍ट्रेन अपने पूर्ववर्ती स्‍ट्रेन से पहले ही ज्‍यादा संक्रामक है।

डॉक्‍टर हांस कुल्‍गे ने कहा कि महामारी में स्‍पीड ही सबसे महत्‍वपूर्ण होता है। उन्‍होंने कहा कि जब कोरोना को डब्‍ल्‍यूएचओ ने महामारी घोषित किया, उस समय भी कई देश इंतजार कर रहे थे और हमने अपना मूल्‍यवान समय खो दिया।

कोरोना को मात देने के लिए हमें बहुत तेजी से टीकाकरण करना होगा। कुल्‍गे ने कहा कि हमारा सबसे अच्‍छा मित्र स्‍पीड है और समय हमारे खिलाफ चल रहा है। टीकाकरण की रफ्तार अभी भी बहुत धीमी है।

हमें इसकी गति और वैक्‍सीन की संख्‍या को बढ़ाने की जरूरत है। दुनियाभर में अभी कोरोना के प्रतिद‍िन कुल नए मामलों में 13 फीसदी की कमी आई है।

हालांकि इन आंकड़ों का कम या ज्‍यादा होना लगातार बना हुआ है। पूरे विश्व में कोरोना संक्रमण के आधिकारिक मामले बढ़कर 16 करोड़ को पार कर गए हैं। इस महामारी से अब तक कुल 35 लाख लोगों की मौत हो गई हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button