झारखंड

झारखंड में यहां वैक्सीन की दो डोज ले चुके डाॅक्टर हुए कोरोना पाॅजिटिव, सीएस ने बताया राज्य का पहला मामला

JAMSHEDPUR/जमशेदपुर: वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव को लेकर झारखंड में जारी वैक्सीनेशन के बीच एक चैंकाने वाली खबर आई है, जहां कोविड टीका की दो डोज ले चुके जमशेदपुर सिटी के एक डाॅक्टर कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं।

इतना ही नहीं, उनकी पत्नी भी कोरोना पाॅजिटिव पाई गई हैं, जो कोरोना का टीका नहीं ली थी।

इस संबंध में जमशेदपुर के सिविल सर्जन डॉण् एके लाल ने कहा कि हमारे राज्य के लिए यह अपनी तरह का पहला मामला है। बता दें कि डाॅक्टर ने कोरोना के टीका की पहली डोज 19 जनवरी और दूसरी 20 फरवरी को ली थी।

क्या कहते हैं संक्रमित डाॅक्टर

कोरोना पॉजीटिव हुए साकची क्षेत्र के चर्म रोग विशेषज्ञ ने बताया कि टीका लेने का ही असर है कि उनमें संक्रमण कम है। चिकित्सक के अनुसार, टीका लेने के 45 दिनों के बाद एंटीबॉडी पूरी तरह विकसित होता है।

उनका अभी 45 दिन नहीं हुआ है। इसीलिए संभव है कि किसी संक्रमित के सम्पर्क में आने से वे पॉजिटिव हो गए हों।

उन्होंने कहा कि कोरोना से पूर्ण सुरक्षित होने के लिए दोनों टीका लेने के बाद कम से कम दो महीने पूरे होने चाहिए।

टीका लेने का ही परिणाम है कि उन्हें आंशिक संक्रमण है जबकि उनकी पत्नी जिसने टीका नहीं लिया उनमें संक्रमण अधिक है। बता दें कि देश में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण का अभियान तेजी से चल रहा है।

साढे तीन करोड़ लोगों को लगा कोरोना का टीका

बता दें कि देश में मंगलवार शाम सात बजे तक 19,11,913 लोगों को कोविड.19 रोधी टीका लगाया गया और इसके साथ ही टीके की खुराक की कुल संख्या 3 करोड़ 48 लाख के पार पहुंच गई।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की मंगलवार शाम सात बजे तक की रिपोर्ट के अनुसार, देश में अब तक लाभार्थियों को टीके की कुल 3 करोड़ 48 लाख 59 हजार 345 खुराक दी जा चुकी हैं।

Back to top button