झारखंड में यहां मिला कोरोना वायरस का खतरनाक स्ट्रेन, डॉक्टर्स बोले हो रहीं ज्यादा डेथ

धनबाद: झारखंड के धनबाद जिले से चिंता बढ़ाने वाली एक खबर आई है, जहां कोरोना वायरस के कई स्ट्रेन मौजूद हैं।

इसमें डबल म्यूटेंट वेरिएंट बी 1.617 के तीन वेरिएंट में से दो वेरिएंट बी.1.617.1 और बी.1.617.2 पाए गए हैं, जिन्हें काफी खतरनाक और अधिक संक्रामक माना जा रहा है।

जांच में वायरस के नए वेरिएंट बी.1.222 व बी.1.445 भी मिले हैं। सैंपल जांच में पहली लहर में मिला वायरस का बी.1 स्ट्रेन भी पाया गया है।

भुवनेश्वर की लेबोरेट्री ने की पुष्टि

बताते चलें कि धनबाद में आरटी-पीसीआर में पॉजिटिव पाए गए कई सैंपल्स को जांच के लिए भुवनेश्वर (ओडि़शा) स्थित रीजनल जीनोम सिक्वेंसिंग लेबोरेट्री भेजा गया था।

वहां जीनोम सिक्वेंसिंग में कोरोना वायरस के कई स्ट्रेन की पुष्टि हुई है।

धनबाद समेत दूसरे जिले से 100 सैंपल्स जांच के लिए भेजे गए थे। भेजे गए सैंपल्स 1 से 12 अप्रैल के बीच यहां भर्ती मरीजाें से लिये गए थे।

धनबाद के 50 सैंपल्स की जांच में आठ में बी.1, 9 सैंपल में बी.1.617.1, 6 में बी.1.222 व 30 से अधिक सैम्पल में वायरस का बी.1.617.2 वेरिएंट पाया गया।

मरीजों को ब्लैक फंगस व हाइपोक्सिया

धनबाद में कोविड के नोडल अफसर डॉ. यूके ओझा ने बताया कि वायरस के नए स्ट्रेन कई गुना ज्यादा खतरनाक हैं।

ये मरीजों में ब्लैक फंगस, हाइपोक्सिया के रूप में असर सामने हैं। अधिकतर मरीज हाइपोक्सिया के शिकार हो रहे हैं।

इस बीमारी में मरीज में बिना अन्य लक्षण के ऑक्सीजन सेचुरेशन तेजी से कम हो जाता है।

डब्ल्यूएचओ ने चिंता जताई

इस संबंध में माइक्रोबायोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ. सुजीत तिवारी ने बताया कि जांच में वायरस के कई वेरिएंट की मौजूदगी का पता चला है। बी.1.617 वेरिंएट अधिक खतरनाक है।

इसमें मौत भी अधिक हो रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने भी कोरोना वायरस के बी.1.617 वेरिएंट को चिंताजनक वेरिएंट की श्रेणी में रखा है।

कोरोना के इस वेरिएंट के भी 3 वेरिएंट हैं, जिनमें बी.1.617-1, बी.1.617-2 तथा बी.1.617-3 शामिल हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button