धनबाद पुलिस ने नीरज तिवारी हत्याकांड से उठाया पर्दा, 7 गिरफ्तार

धनबाद: धनबाद पुलिस ने नीरज तिवारी हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली है। कांड के अनुसंधान में जुटी विशेष टीम ने वारदात में शामिल सात लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

साथ ही पुलिस ने इनके पास से हथियार, मोटरसाइकिल, मोबाइल फोन सहित अन्य सामान भी बरामद किया है।

गिरफ्तार आरोपितों में रौनक गुप्ता, राहुल गुप्ता, दिलीप यादव, गणेश गुप्ता, सुजल गुप्ता, प्रिंस स्वर्णकार और प्रिय रंजन शामिल हैं।

पुलिस ने इनके पास से तीन पिस्टल, जिन्दा कारतूस, सफ़ेद स्कॉर्पियो, हीरो पैसन प्रो मोटरसाइकिल बिना नंबर का, बाइक, पांच मोबाइल फोन सहित अन्य सामान बरामद किया है।

इन गाड़ियों का इस्तेमाल आरोपितों ने भागने के लिए किया था। बताया जा रहा है कि कुछ साक्ष्य पुलिस ने जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भी भिजवाया है।

सोमवार को धनबाद के एसएसपी संजीव कुमार ने बताया कि नीरज तिवारी और रौनक गुप्ता के बीच पुरानी दुश्मनी थी।

हत्या के दो दिन पहले ही रौनक गुप्ता जेल से बाहर आया था। जेल से बाहर आने के बाद उसे इस बात की डर सता रही थी कि नीरज तिवारी सकक हत्या करा देगा।

इसके बाद रौनक गुप्ता ने नीरज तिवारी की ही हत्या कर देने का प्लान बनाया और सुनियोजित तरीके से नीरज तिवारी की हत्या करा दी। रौनक गुप्ता ही नीरज तिवारी की हत्या का मुख्य सूत्रधार है।

गौरतलब है कि दो सितंबर की रात कतरास के राजस्थानी धर्मशाला के समीप ताबड़तोड़ फायरिंग कर नीरज तिवारी की हत्या कर दी गई थी।

इस दौरान रौनक गुप्ता और राहुल गुप्ता को भी गोली लगी थी, जो इलाज के बाद स्वास्थ्य हो गए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button