रोजी-रोटी के लिए झारखंड से महाराष्ट्र रवाना हुए 39 मजदूर

बोकारो: कोरोना का प्रकोप कम होते ही रोजी-रोटी के लिए गोमिया प्रखंड के साड़म बाजार से महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के लिए शुक्रवार को गोमिया, साड़म, होसिर, ललपनिया, चिनियांगढ़ा, पेटरबार सहित विभिन्न क्षेत्रों से 39 मजदूर रवाना हुए।

सभी मजदूर स्थानीय संवेदक विकास तिवारी के माध्यम से महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में रोड़वेज कम्पनी के अधीन निर्माणाधीन ब्रिजवर्क में जुड़कर कार्य करेंगे।

इस संबंध में मजदूर महावीर हांसदा,करण किस्कू,भगवानदास भगत,रामलाल किस्कू,सुरेंद्र सिंह आदि मजदूरों ने कहा कि हमलोग प्रवासी मजदूर हैं।

दूसरे प्रदेशों में रोजगार करके अपना जीवनयापन करते हैं। कहा कि कोरोना के प्रकोप की वजह से दूसरे प्रदेशों में हमारे रोजगार बंद हो गए थे, जिसके कारण हमलोग अपने घर को वापस आ गए थे। रोजगार बंद हो जाने से हमलोगों को काफी परेशानी हो रही थी।

उन्होंने कहा कि अब कोरोना का प्रकोप धीरे धीरे कम होता जा रहा है।दूसरे प्रदेशों में स्थिति धीरे धीरे फिर से पटरी में लौटने लगी है। वहां रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ गई है।

ऐसे में महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले की रोडवेज कम्पनी में रोजगार मिलने पर हम सभी मजदूर रवाना हो रहे हैं।वहीं रोजगार मिलने से मजदूरों में खुशी का माहौल था।

सभी मजदूर सड़क मार्ग से हटिया रेलवे स्टेशन जाएंगे और वहां से रेलमार्ग से औरंगाबाद के लिए रवाना होंगे।

Back to top button