झारखंड में कांग्रेस नेता ने अपनी गाड़ी को बनाया एंबुलेंस

रामगढ़: कोरोना काल में ग्रामीण क्षेत्र पर सरकार और जिला प्रशासन की पैनी नजर है। सर्वे के अनुसार कोरोना का संक्रमण अब ग्रामीण क्षेत्र में अपना पांव पसार रहा है।

वहां के लोगों की तबीयत भी खराब हो रही है। उन्हें अस्पताल तक जाने के लिए न तो समय पर कोई गाड़ी उपलब्ध हो पा रही है, और ना ही एंबुलेंस पहुंच पा रही है।

ग्रामीणों की दशा देख रामगढ़ के एक कांग्रेसी नेता सुधीर कुमार मंगलेश ने अपनी निजी वाहन को ही एंबुलेंस बना दिया है। वह दुलमी प्रखंड क्षेत्र के रहने वाले हैं‌।

उस क्षेत्र में कई ऐसे गांव हैं जहां के लोगों को अस्पताल तक जाने के लिए कोई सवारी गाड़ी नहीं मिलती।

ऐसी स्थिति में उन्होंने अपनी बोलेरो गाड़ी को एंबुलेंस में तब्दील कर दिया है। उनकी यह गाड़ी लोगों को फ्री में सेवा देगी।

सुधीर ने कहा कि कोरोना महामारी में दूसरों के दर्द और मजबूरी को देख कर क्षेत्र के कई लोग अलग-अलग ढंग से मदद को हाथ बढ़ा रहे हैं।

आपदा की घड़ी में दुलमी प्रखंड क्षेत्र के लोगों का निःस्वार्थ भाव से सेवा करने का निर्णय लिया है। इसके तहत दुलमी प्रखंड क्षेत्र के मरीजों को अस्पताल पहुंचाया जायेगा।

साथ ही जरूरत पड़ने पर पीपीई कीट पहन कर क्षेत्र के कोरोना मरीजों को भी कोविड अस्पताल पहुंचाया जायेगा।

जरूरतमंद मरीजों को समय पर एंबुलेंस नहीं मिल पाने से अस्पताल जाने में काफी असुविधा हो रही है।

सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को मजबूरी में मुंहमांगा किराया देकर निजी वाहनों से अस्पताल जाना पड़ रहा है। ऐसे में लोगों को काफी कठिनाई हो रही है।

सुधीर अपने निजी वाहन को 24 घंटे लोगों की सेवा में तैनात कर चुके हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button