देवघर पुलिस ने लूटपाट की पांच वारदातों का किया उद्भेदन, तीन गिरफ्तार

देवघर: देवघर जिला पुलिस अधीक्षक अश्वनी कुमार सिन्हा ने सोमवार को मधुपुर थाने में लूटपाट, डकैती एवं छिनतई से संबंधित पांच कांडों का खुलासा किया।

उन्होंने संलिप्त आरोपियों के गिरफ्तारी की सूचना देते हुए बताया कि मधुपुर, सारठ, पालाजोरी, चितरा एवं करौं थाना क्षेत्र में डकैती लूटपाट एवं छिनतई की घटना घटित हुई थी।

इसमें एस आर डालमिया रोड चांदमारी में व्यवसाई मनोज कुमार मोदी के दुकान से ₹500000, दो लैपटॉप, दो मोबाइल की लूट हुई थी।

सारठ थाना क्षेत्र अंतर्गत शांति चौक स्थित कपड़ा व्यवसाई उत्तम पोद्दार के दुकान से ₹40000 ,एक मोबाइल फोन, एक लैपटॉप की लूट हुई थी।

11 मई को पालाजोरी थाना क्षेत्र अंतर्गत पालोजोरी सारठ मुख्य मार्ग में बांधडीह गांव के समीप बैंक ऑफ इंडिया के सीएसपी संचालक अताउल अंसारी के सीएसपी बैंक से ₹220000 एवं 2 मोबाइल की लूट हुई थी।

इसके अलावा चौथी घटना चितरा थाना अंतर्गत नारंगी मोड़ के समीप पंचायत भवन से अज्ञात अपराधियों द्वारा लूटपाट करने के नियत से फायरिंग कर विमल कुमार सिंह नामक व्यक्ति को घायल कर भाग गए थे, जबकि पांचवीं घटना 22 की रात्रि में करौं थाना क्षेत्र अंतर्गत तुलसीटांड़ निवासी सिराज अंसारी के घर में घुसकर अज्ञात अपराधियों के द्वारा ₹240000 नकद जेवर एवं 2 मोबाइल फोन की लूटपाट की गई।

पुलिस अधीक्षक अश्वनी कुमार सिन्हा ने बताया कि उपरोक्त सभी कांडों का उद्भेदन करते हुए संलिप्त आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

उन्होंने बताता कि मधुपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विनोद रवानी एवं आमोद नारायण सिंह, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सारठ के नेतृत्व में विशेष टीम गठित कर लगातार छापेमारी कर फिरोज अंसारी, शमशेर मियां ,नौशाद अंसारी को गिरफ्तार किया गया ।

फिरोज अंसारी के पास से एक देसी पिस्टल मैगजीन सहित जिसमें चार चक्र जिंदा गोली एवं कांड में प्रयुक्त टीवीएस अपाचे मोटरसाइकिल बरामद किया गया है।

शमशेर अंसारी के पास से भी एक देसी पिस्टल मैगजीन सहित चार चक्र जिंदा गोली एवं पालोजोरी सीएसपी संचालक से लूटा गया एक भी वीवो कंपनी का मोबाइल फोन तथा नौशाद अंसारी के पास से एक मैगजीन जिसमें दो चक्र जिंदा गोली बरामद किया गया है।

गिरफ्तार तीनों आरोपितों ने पांचों कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए अन्य शामिल लोगों के नामों का खुलासा किया है, जिसमें हामिद अंसारी उर्फ प्रधान, मुस्तकीम अंसारी, जाकिर अंसारी, गुल मोहम्मद, डोमा, पांचू उर्फ मौलवी, याजिम उर्फ लंबू सातों करमाटांड़ थाना क्षेत्र के हैं।

गिरफ्तार तीनों आरोपितों ने अपने बयान में यह बताया कि इस गैंग का सरगना हामिद अंसारी उर्फ प्रधान है तथा यह लोग उसके लिए ही काम करते हैं।

इन लोगों ने जो घटना में मोटरसाइकिल एवं हथियार प्रयोग किए वह सभी हामिद अंसारी के द्वारा ही उपलब्ध कराए गए थे। प्रत्येक घटना के बाद लूटी गई रकम का 15 से 20 फीसदी वह हिस्सा लेता है।

इसके साथ साथ इन लोगों ने करमाटांड़ थाना क्षेत्र में भी की गई लूटपाट के संबंध में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

गिरफ्तार किए गए आरोपितों के पास से दो देशी पिस्टल मैगजीन सहित एक मैगजीन देसी पिस्टल का, 7.65 एम एम का 10 चक्र जिंदा गोली, एक सफेद रंग का टीवीएस अपाचे मोटरसाइकिल जिस पर नंबर जेएस 04151 प्लेट लगा हुआ है तथा नगद ₹18350 जब्त किया गया है। गिरफ्तार किए गए आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button