लोहरदगा में अधिकारियों ने बैठक कर विकास योजनाओं का किया खाका तैयार

लोहरदगा: डीसी दिलीप कुमार टोप्पो की अध्यक्षता में आज डिस्ट्रिक्ट मिनरल फण्ड ट्रस्ट (डीएमएफटी) शासी परिषद की बैठक संपन्न हुई।

बैठक में विभिन्न योजनाओं पर चर्चा की गई और प्राथमिकता के आधार पर योजनाओं चयन के चयन का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया।

बैठक में शामिल एजेण्डा में सेन्हा प्रखण्ड के बरही में विद्यालय का चहारदीवारी निर्माण, मुर्की-गोबरसेला रोड का निर्माण, कड़ाक में नया चापाकल का अधिष्ठापन, सदर अस्पताल में सिविल वर्क, सदर अस्पताल में ऑक्सीजन पाईपलाइन का अधिष्ठापन, समर्थ आवासीय विद्यालय हिरही में विद्युतीकरण व छात्रों के पठन-पाठन हेतु जेनरेटर की व्यवस्था, कुडू के सरनाटोली में सामुदायिक भवन का निर्माण, पेशरार प्रखण्ड के जवाल ग्राम में मंडप के पास नया चापाकल का अधिष्ठापन पर चर्चा की गई।

साथ ही कोविड-19 नियंत्रण हेतु क्रय किये गये 1500 पैकेट मेडिकल किट की घटनोत्तर स्वीकृति, सदर अस्पताल में गहन चिकित्सा पदाधिकारी के रूप में डाॅ परवेज आलम के चयन का अनुमोदन, जिला में कोविड-19 के संभावित तीसरी लहर की तैयारी हेतु ऑक्सीजन बी-टाईप एवं डी-टाईप का क्रय की स्वीकृति, तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए सभी प्रखण्डों में चाईल्ड वार्ड का निर्माण आदि का निर्णय लिया गया।

तीसरी लहर के लिए लोहरदगा जिला तैयार

उपायुक्त ने कहा कि अगर जिला में कोविड की तीसरी लहर आती है तो इसके लिए लोहरदगा जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार है। साथ ही अन्य आवश्यकता तैयारियां भी की जा रही हैं।

ऐसी संभावना व्यक्त की जा रही है कि तीसरी लहर का असर बच्चों पर अधिक देखने को मिल सकता है जिसके लिए सदर अस्पताल में बच्चों के लिए एसएनसी यूनिट तैयार है।

लगभग 52 बच्चों को एक साथ रखा जा सकता है।

डाॅ शंभूनाथ चौधरी ने बताया कि सदर अस्पताल में 12 वेंटिलेटर हैं जो क्रियाशील हैं।

इसके अलावा 45 ऑक्सीजन कंसनट्रेटर भी उपलब्ध है। 48 अन्य ऑक्सीजन कंस्टनट्रेटर की आपूर्ति होने वाली है। जिला में 123 बी-टाईप सिलिंडर हैं।

Back to top button