झारखंड

इन चार र्शतों को पूरी करने पर नरेंद्र मोदी को शपथ लेने की शुभकामना देगी JMM

झामुमो नेता ने कहा, पिछले दस वर्षों के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार NDA का नाम लेने को मजबूर हुए। अपने भाषण में उन्होंने एक बार भी भाजपा का नाम नहीं लिया।

Supriyo Bhattacharya to PM Modi : शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस पर झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) नेता सुप्रिया भट्टाचार्य (Supriyo Bhattacharya) ने कहा कि पार्टी इसी शर्त पर नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने की शुभकामना देगी, जब वे संसद के पहले अधिवेशन में चार बातों पर मुहर लगाएंगे।

ये चार बातें-सरना धर्म कोड और 27 प्रतिशत OBC आरक्षण का प्रस्ताव, अग्निवीर योजना (Agniveer Scheme) को समाप्त करना, सरकारी विभागों में रिक्त 50 लाख पदों पर विज्ञापन जारी करने और महंगाई कम करने के साथ राज्यों को GST का पैसा लौटाने से संबंधित है।

उन्होंने संसद में दिए कार्यकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि NDA का नेता चुने गए कार्यकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो भाषण दिया, वह साफ बताता है कि वे नैतिक तौर पर PM के दावेदार नहीं रहे। जबरन वे तीसरी बार सरकार बनाने का काम करने जा रहे।

NDA का नाम लेने को हुए मजबूर

उन्होंने कहा कि भाजपा नेता कहते हैं कि पूर्व पीएम नेहरू के बाद कोई नेता तीसरी बार PM पद की शपथ लेगा। वास्तविकता यही है कि साल 1962 में जवाहरलाल नेहरू ने तीसरी बार शपथ ली थी, तब जनादेश की ऐसी स्थिति नहीं थी।

देश को तत्कालीन पीएम पर भरोसा था। आज देश के लोगों को पीएम पर विश्वास नहीं है।

झामुमो नेता ने कहा, पिछले दस वर्षों के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार NDA का नाम लेने को मजबूर हुए। अपने भाषण में उन्होंने एक बार भी भाजपा का नाम नहीं लिया।

वे कहते दिखे कि जो बीज पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी, बाला साहेब ठाकरे, प्रकाश सिंह बादल, जार्ज फर्नांडीज ने लगाया, उसी का यह वृक्ष है।

दस वर्षों में नरेंद्र मोदी पहली बार एनडीए के पुराने नेताओं का नाम लेने को मजबूर हुए। एक बार भी उन्होंने यह नहीं कहा कि यह मोदी की गारंटी है।

सुप्रियो ने यह भी कहा कि उनके भाषण के दौरान बने मंच पर एनडीए के सभी नेताओं को जगह दी गई, लेकिन झारखंड से गठबंधन में शामिल आजसू नेता सुदेश महतो को नहीं। यह दर्शाता है कि झारखंड के प्रति नरेंद्र मोदी की सोच क्या है।

x