क्या रांची लोकसभा सीट पर खुलेगा कांग्रेस का खाता, संजय सेठ और यशस्विनी सहाय के बीच टक्कर

Digital Desk

Ranchi Lok Sabha Seat : मंगलवार को झारखंड (Jharkhand) की सभी 14 लोकसभा सीटों के लिए  काउंटिंग (Counting) शुरू हो चुकी है। सभी उम्मीदवारों की धड़कन बढ़ गई है।

यूं तो राज्य की कई सीटों पर देशभर की नजर है, लेकिन राजधानी होने के चलते रांची प्रमुख हॉट सीटों (Ranchi Lok Sabha Seat) में से एक है।

रांची में छठे फेज के तहत 25 मई को वोटिंग हुई थी। यहां भाजपा उम्मीदवार संजय सेठ (Sanjay Seth) के सामने कांग्रेस ने यशस्विनी सहाय (Yashaswini Sahay) को चुनावी मैदान में उतारा है।

रांची लोकसभा सीट पर साल 1991 से भाजपा का कब्जा

रांची लोकसभा सीट को भाजपा का गढ़ माना जाता है। यहां से भाजपा के रामटहल चौधरी (Ramtahal Choudhary) पांच बार सांसद चुने जा चुके हैं।

हालांकि इस बार टिकट नहीं मिलने पर वह नाराज होकर कांग्रेस (Congress) में चले गए थे। लेकिन कांग्रेस ने भी उन्हें टिकट न देकर यशस्विनी सहाय को मैदान में उतारा।

इससे नाराज होकर रामटलह वापस भाजपा में आ गए।

पिछले चुनाव में भाजपा ने संजय सेठ को टिकट दिया था। संजय ने कांग्रेस के सुबोधकांत सहाय (Subodhkant Sahay) को हराया था। तब रामटहल चौधरी भी निर्दलीय लड़े थे और उनकी हार हुई थी।

यशस्विनी सहाय सुबोधकांत सहाय की बेटी हैं। रांची लोकसभा सीट पर साल 1991 से भाजपा का कब्जा है। बीच में दो बार सुबोधकांत सहाय सांसद चुने गए। इस बार यहां मुकाबला खासा दिलचस्प है।

हमें Follow करें!