पारा शिक्षक संघ का शिष्टमंडल मंत्री हफीजुल हसन से करेगा मुलाक़ात

सरकार से मृतक के आश्रित को 5 लाख रुपये का मुआवजा व एक को नौकरी देने की मांग

देवघर: मधुपुर-जामताड़ा स्टेशन के बीच जोड़ामो हॉल्ट रेल पोल संख्या-283/25 ए-27 ए के अप रेल ट्रैक से रेल पुलिस ने 40 वर्षीय युवक का क्षत-विक्षत शव बरामद किया गया था।

मृतक की पहचान 40 वर्षीय पारा शिक्षक मनोज भोक्ता पाथरोल थाना क्षेत्र के तेतरिया गांव निवासी के रूप में की गई थी।

वर्तमान में वह एस आर डालमिया रोड स्थित एक आवास में रहता था।

इधर घटना की सूचना मिलते ही पारा शिक्षक संघ के अध्यक्ष किशोर यादव, उपाध्यक्ष सुखु हांसदा, महासचिव धीरेंद्र राय, तारकेश्वर राउत, भागीरथ राउत समेत दर्जनों पारा शिक्षक जोड़ामो स्टेशन पहुंचे।

मनोज भोक्ता के आश्रित को मुआवजा और नौकरी की मांग, कहा- सरकार की लापरवाही से नहीं मिला था मानदेय

संघ के अध्यक्ष ने कहा कि सरकार की लापरवाही से मृतक पारा शिक्षक को पिछले दो साल से मानदेय नहीं मिला था। आर्थिक तंगी के कारण उन्होंने आत्महत्या की है।

उन्होंने सरकार से मृतक के आश्रित को 5 लाख रुपये का मुआवजा व एक को नौकरी देने की मांग की।

जल्द ही संघ का शिष्टमंडल सूबे के अल्पसंख्यक कल्याण व पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन से मिलकर मांग पत्र सौंपा जाएगा।

मधुपुर में यूडी केस किया गया दर्ज

रेल थाना अतंर्गत जोडामो हॉल्ट पर सोमवार को ट्रेन के चपेट में आने से पाथरोल थाना क्षेत्र के तेतरिया गांव निवासी पारा शिक्षक मनोज कुमार भोक्ता की मौत हो गई थी।

सूचना पर मधुपुर जीआरपी के एएसआइ राम प्रवेश तिवारी व आरपीएफ के जवान घटनास्थल पहुंचकर मामले की छानबीन की।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि रेल पटरी की जांच कर रहे रेलकर्मी ने की नजर अप रेल लाइन पर शव को पड़ा हुआ पाया।

रेल थाना प्रभारी मधुपुर हरेराम दुबे ने बताया कि उनके स्वजनों ने अनुसार कुछ महीनों से मनोज की मानसिक हालत ठीक नहीं थी। विक्षिप्त जैसे हरकत कर रहे थे।

बिना किसी को कुछ बताए वह घर से निकल गया था। ट्रेन की चपेट में आने से उनकी मौत हो गई है। मृतक के स्वजन के बयान पर रेल थाना मधुपुर में यूडी केस दर्ज कर लिया गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button