कांग्रेस की बैठक में विधायक उमाशंकर अकेला और इरफान अंसारी हुए शामिल

नाराजगी चार साल बाद होने जा रही प्रदेश कांग्रेस कमेटी विस्तार को लेकर है

रांची: झारखंड में इन दिनों राज्य सरकार को गिराने का मामला गरमाया हुआ है। इसे लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष आमने-सामने हैं।

इसी कड़ी में बुधवार को कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के आवास पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव की अध्यक्षता में बैठक हुई।

सूत्रों के अनुसार इस बैठक में आलमगीर आलम ने विधायक उमाशंकर अकेला और इरफान अंसारी को तलब किया था।

बताया जाता है कि आलमगीर आलम ने दोनों विधायकों से पूछताछ की है।

उल्लेखनीय है कि रांची पुलिस को दिल्ली स्थित एक होटल का सीसीटीवी फुटेज मिला है, जिसमें दोनों विधायक भाजपा के नेताओं से मुलाकात करते दिख रहे हैं।

बैठक में कांग्रेस विधायक नमन बिक्सल कोनगाड़ी, अंबा प्रसाद, नीरज पूर्णिमा सिंह, राजेश कच्छप सहित अन्य विधायक पहुंचे थे।

इधर, कांग्रेस में लगातार विधायकों की नाराजगी सामने आ रही है। इस बार नाराजगी चार साल बाद होने जा रही प्रदेश कांग्रेस कमेटी विस्तार को लेकर है।

बताया जाता है कि इस संबंध में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षों को इसकी जानकारी नहीं दी गई है। वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस के पांच कार्यकारी अध्यक्ष हैं। इनमें केवल केशव महतो कमलेश को ही इसकी जानकारी है।

कांग्रेस सूत्रों की माने तो प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और केशव महतो कमलेश ने मिलकर प्रदेश कमेटी विस्तार की सूची तैयार की है, जिसे बाद में कमलेश ने यह सूची केंद्रीय नेतृत्व को सौंपा है।

कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा है कि उन्हें ऐसी कोई जानकारी नहीं है। इसके अलावा कई अन्य कार्यकारी अध्यक्षों ने जानकारी होने से इनकार किया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button