भारत

सावधान! JNU में किसी ने धरना दिया तो लग जाएगा ₹20000 का जुर्माना, अब…

JNU New Rule: जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में य‎दि ‎किसी ने धरना ‎दिया है तो उसे 20 हजार का जुर्माना (Fine) भरना पड़ेगा। प्रशासन ने एक बार फिर से नए नियम लागू करने के लिए आदेश जारी कर दिया गया है।

इस नियम के बाद यहां के छात्र-छात्राएं काफी परेशान हैं। नियम के मुताबिक, यूनिवर्सिटी कैंपस में धरना देने पर छात्रों पर 20 हजार का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा अगर कोई राष्ट्र विरोधी नारे लगाएगा तो उस पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा।

जो छात्र अपने हितों के लिए समय-समय पर विश्वविद्यालय में प्रदर्शन कर अपनी मांग उठाते थे अब उन मांगों को नहीं उठा पाएंगे। इसके लिए 20,000 का जुर्माना तय कर दिया गया है।

विश्वविद्यालय के छात्रों में काफी नाराजगी

अगर कोई छात्र विश्वविद्यालय के अंदर राष्ट्र विरोधी नारे (Anti national slogans) लगाएगा तो उससे भी 10,000 रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा। हालांकि नए आदेश के बाद विश्वविद्यालय के छात्रों में काफी नाराजगी भी है।

इस दौरान AVBP के सदस्य और मीडिया इंचार्ज अंबुज तिवारी (Ambuj Tiwari) ने कहा है कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का यह नया तुगलकी फरमान पहले भी आ चुका है जिसके खिलाफ हम लोगों ने काफी प्रदर्शन किया था और उसे बाद में वापस भी लिया गया था, लेकिन आज सुनाई दे रहा है कि फिर से कोई फरमान आया है जो छात्रों के प्रदर्शन करने पर रोक लगाने की बात कही जा रही है।

उन्होंने कहा ‎कि यह बिल्कुल गलत है। क्योंकि यह हमारा संवैधानिक अधिकार है कि हम अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करें। हमसे अपने संवैधानिक अधिकार को जेएनयू प्रशासन ना छीने।

उनका यह भी कहना है कि जो राष्ट्र विरोधी नारे या फिर संदिग्ध गतिविधियों में पाए जाने पर 10,000 जुर्माना लगाने की बात कही गई है। AVBP देश विरोधी जुर्माने का समर्थन करता है, लेकिन विश्वविद्यालय के अंदर अगर कोई भी संगठन अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहा है तो उसे प्रदर्शन करने की इजाजत दी जाए। उनका कहना है ‎कि अ‎धिकारों के लिए प्रदर्शन करना हमारा हक है।

x