कमल हासन की लड़ाई मुश्किल, क्या कहता है चुनावी गणित ?

चेन्नई: दक्षिण के सुपरस्टार से राजनेता बने कमल हासन को कोयंबटूर दक्षिण में कड़ी चुनावी लड़ाई का सामना करना पड़ सकता है।

जिस सीट से उन्होंने 6 अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अपनी पार्टी मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) से नामांकन पत्र दाखिल किया।

कमल को भाजपा नेता वनाथी श्रीनिवासन, जो कि पार्टी की महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं, जो एआईएडीएमके-भाजपा गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रही हैं।

कांग्रेस नेता मयूरा जयकुमार डीएमके-कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगे, जबकि अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम (एएमएमके) ने एआईएडीएमके के पूर्व नेता चैलेंजर आर डोरिसामी को चुना है जो एक उद्योगपति हैं।

श्रीनिवासन ने 2016 के विधानसभा चुनावों में 21.57 वोटिंग प्रतिशत के साथ अकेले 33,113 वोट हासिल किए थे और एआईएडीएमके के उम्मीदवार अम्मान के. अर्जुनन ने 38.94 प्रतिशत के साथ 59,788 वोट पाकर सीट जीती थी।

अन्नाद्रमुक और भाजपा अब एक चुनावी गठबंधन में हैं और श्रीनिवासन उस गठबंधन के उम्मीदवार हैं जो उन्हें मजबूत बनाता है।

साल 2016 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में मयूरा जयकुमार ने 27.60 वोटिंग प्रतिशत पर 42,369 वोट हासिल किए थे और एआईएडीएमके के अम्मान के अर्जुनन से चुनाव हार गए थे।

चैलेंजर दोराई अन्नाद्रमुक के पूर्व विधायक थे, जिन्होंने तत्कालीन द्रमुक उम्मीदवार एन. पलानीसामी को 27,796 मतों के अंतर से हराया था।

कमल हासन अपनी पार्टी के उपाध्यक्ष आर महेंद्रन द्वारा 2019 के संसद चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद जब एमएनएम ने पहली बार चुनाव लड़ा था, तब उन्हें मिले वोटों को लेकर उम्मीद कायम है।

महेंद्रन ने चुनाव में कोयम्बटूर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से 23,838 वोट हासिल किए थे, लेकिन सीपीएम-डीएमके गठबंधन के पी आर नटराजन से तीसरे स्थान पर रहे। जिन्हें 64,453 वोट मिले, जबकि भाजपा के सी.पी. राधाकृष्णन ने 46,368 वोट हासिल किए।

हालांकि, कमल हासन महेंद्रन की तुलना में जनता के बीच बहुत अधिक लोकप्रिय चेहरा हैं और अगर कमल को मुस्लिम समुदाय से जमीनी समर्थन मिल जाता है, जो महेंद्रन के वोटों से जुड़े हैं, तो उनका चुनाव जीतने की संभावना है।

अल्पसंख्यक मुसलमानों और ईसाइयों का निर्वाचन क्षेत्र में 25 प्रतिशत वोट हैं और दलित का 20 प्रतिशत वोट बैंक है। कमल हासन अपनी लोकप्रियता के साथ इन मतदाताओं पर ताकत झोंक रहे हैं।

आर महेंद्रन ने आईएएनएस को बताया, कमल हासन दक्षिण भारत के एक लोकप्रिय व्यक्ति हैं और पिछले लोकसभा चुनाव में मुझे मिले वोटों के सहारे उन्हें अल्पसंख्यक मुसलमानों, ईसाइयों और दलितों का समर्थन हासिल करना शानदार जीत होगी।

कमल हासन निर्वाचन क्षेत्र में हैं। लोगों से मिल रहे हैं। जिम में जा रहे हैं। रास्ते के ढाबों में चाय पी रहे हैं। लोगों के मुद्दों को सुन रहे हैं और कोयम्बटूर के मार्शल आर्ट पर भी हाथ आजमा रहे हैं और लोगों के बीच लोकप्रियता बढ़ा रहे हैं।

कोयंबटूर दक्षिण सीट पर एक कड़ी टक्कर है।

चुनाव के आंकड़े

मतदान केंद्र : 377

मतदाता (पुरुष) : 1,25,416

मतदाता (महिला) : 1,25,950

थर्ड जेंडर : 23

कुल 2,51,389

2016 का चुनाव परिणाम

कुल मतदाता : 2,45,307

मतदान हुआ : 1,53,533 (62.59 फीसदी)

अम्मन के अर्जुनन (एआईएडीएमके): 59,788 (38.94 फीसदी)

मयूरा एस जयकुमार (कांग्रेस): 42,369 (27.60 फीसदी)

वनाथी श्रीनिवासन (भाजपा): 33,113 (21.57 फीसदी)

सी पद्मनाभन (सीपीएम): 7,248 (4.72 फीसदी)

नोटा : 3,331 (2.17 फीसदी)

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button