Lockdown Jharkhand : झारखंड में फिर बढ़ा LOCKDOWN

रांची: झारखंड में लाॅकडाउन LOCKDOWN एकबार फिर बढा दिया गया है। अगले 10 जून तक सभी सरकारी कार्यालय दोपहर 2 बजे तक ही खुले रहेंगे। सरकार ने जिलों को दो श्रेणियों में बांटकर कुछ रियायत देने का फैसला किया है।

जी हां राज्य में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह Lockdown अब 10 जून के सुबह 6 बजे तक प्रभावी रहेगा।

इस दौरान पहले से लागू पाबंदियां में कुछ रियायतें दी गई हैं। हालांकि इसके साथ ही अनलॉक की भी शुरुआत हो गई है।

CM हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में आज आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में 3 जून की सुबह 6 बजे समाप्त हो रहे स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की अवधि को एक सप्ताह बढ़ाने का निर्णय लिया गया।

Lockdown Jharkhand : झारखंड में फिर बढ़ा LOCKDOWN, E-PASS को लेकर मिली ये छूट

इस बैठक में अंतर जिला और जिले के अंदर E-PASS की अनिवार्यता खत्म करने का निर्णय लिया गया। वही इंटर स्टेट और इंटर डिस्ट्रिक्ट बस परिवहन सेवा पर रोक जारी रहेगी।

दो श्रेणियों में जिलों का बांटकर दी जाएगी रियायत 

CM हेमंत सोरेन ने कहा कि स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का असर है कि  राज्य में संक्रमण की दर और कोरोना से होनेवाली मौत की दर में लगातार गिरावट आ रही है। हालांकि, अभी भी पूरी सतर्कता बरती जाएगी।

फिलहाल परिस्थियों का आकलन करने के बाद राज्य के सभी 24 जिलों को दो श्रेणियों में बांटकर स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह में शर्तों के साथ कुछ रियायत देने का निर्णय लिया गया है।

एक सप्ताह के बाद परिस्थितियों का आकलन करते हुए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह पर आगे फैसला होगा।

ये मिलेंगी रियायतें 

ज्यादा संक्रमण वाले 9 जिले- बोकारो, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम, देवघर, रांची, हजारीबाग, गढ़वा, गुमला और रामगढ़ में कपड़ा, कास्मेटिक, ज्वेलरी और जूता-चप्पल की दुकानें छोड़कर बाकी सभी दुकानें खुलेंगी। वहीं अन्य 15 जिलों में कुछ  शर्तों के साथ सभी दुकानों को खोलने की इजाजत दी गई है।

इन जिलों में राहत

खूंटी, पलामू, लातेहार, चतरा, कोडरमा, लोहरदगा, सिमडेगा, प. सिंहभूम, सरायकेला-खरसावां, गिरिडीह, पाकुड़, गोड्डा, दुमका, जामताड़ा, साहिबगंज।

इन सभी 24 जिलों में सभी दुकानें (दवा दुकान को छोड़कर) अपराहन दो बजे तक ही खुली रहेंगी।

वहीं किसी भी जिले में मॉल और मल्टी ब्रांड वाली दुकानें नहीं खुलेंगी।  इसके अलावा स्विमिंग पूल, पार्क जिम, मेला, प्रदर्शनी,  सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, सलून,आदि  पर पहले की तरह  पाबंदी जारी  रहेगी।

लोगों से मिली सलाह के आधार पर ही अनलॉक की प्रक्रिया की शुरुआत हुई

CM हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में 10 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया गया। एक दिन पहले सीएम हेमंत सोरेन ने लोगों से अनलॉक को लेकर सलाह मांगी थी।

ऐसे में माना जा रहा था कि इस बार लॉकडाउन की जगह अनलॉक की शुरुआत हो सकती है। लोगों से मिली सलाह के आधार पर ही अनलॉक की प्रक्रिया की शुरुआत हुई है।

जानें क्या मिली छूट

1.  ऐसे 15 जिले जहां संक्रमण का स्तर कम है वहां दुकानें शर्तों के साथ खुली रहेंगी।

2.  राजधानी रांची समेत 9 जिलों में जेवर, कपड़ा और जूते की दुकानें नहीं खुलेंगी इसके अलावे सभी दुकानें खुलेंगी।

3.  शादी समारोह में नहीं मिलेगी कोई छूट।

4.  ज्यादा संक्रमण वाले 9 जिले- बोकारो, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम, देवघर, रांची, हजारीबाग, गढ़वा, गुमला और रामगढ़ में कपड़ा, कास्मेटिक, ज्वेलरी और जूता-चप्पल की दुकानें छोड़कर बाकी सभी दुकानें खुलेंगी।  वहीं अन्य 15 जिलों में कुछ शर्तों के साथ सभी दुकानों को खोलने की इजाजत दी गई है।  इन सभी 24 जिलों में सभी दुकानें (दवा दुकान को छोड़कर) अपराहन दो बजे तक ही खुली रहेंगी।  वहीं किसी भी जिले में मॉल और मल्टी ब्रांड वाली दुकानें नहीं खुलेंगी।  इसके अलावा स्विमिंग पूल, पार्क जिम, मेला, प्रदर्शनी, सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, सलून,आदि पर पहले की तरह पाबंदी जारी रहेगी ।

5.  ज्यादा संक्रमण वाले बोकारो, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम, देवघर, रांची, हजारीबाग, गढ़वा, गुमला और रामगढ़ जिले में कपड़ा, कास्मेटिक, ज्वेलरी और जूता-चप्पल की दुकानें छोड़कर बाकी सभी दुकानें खुलेंगी।

6.  कम संक्रमण वाले 15 जिलों में कुछ शर्तों के साथ सभी दुकानों को खोलने की इजाजत।

7.  सभी जिलों में दुकानें पहले की तरह दोपहर 2 बजे तक ही दुकानें खुलेंगी।

8.  अंतर जिला और जिले के अंदर E-PASS  की अनिवार्यता खत्म करने का निर्णय़ लिया गया। वही इंटर स्टेट और इंटर डिस्ट्रिक्ट बस परिवहन सेवा पर रोक जारी रहेगी।

इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, विकास आय़ुक्त -सह -अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, प्रधान सचिव अजय कुमार सिंह, सचिव  विनय  कुमार चौबे, सचिव अमिताभ कौशल और सचिव श्री अबुबकर सिद्दीकी मौजूद थे।

 नोट- आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा इस बाबत विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे 

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button