पलामू में भारत बंद का दिखा असर, बसों का परिचालन ठप

मेदिनीनगर: अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर सोमवार को भारत बंद का ज़िले में असर रहा। लगभग सभी बसें नहीं चलीं।

सुबह से ही भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी के झंडे तले छात्र नौजवानों और कम्यूनिस्ट पार्टी के नेताओं ने स्थानीय बाजार छहमुहान और रेड़मा मुख्य सड़क को जाम कर दिया था।

मौके पर भाकपा के राज्य कार्यकारिणी सदस्य सूर्यपत सिंह ने कहा कि देश के किसान अपनी अस्मिता का संघर्ष करते हुए भारत बंद का आवाहन किया जिसे सफल बनाने के लिए पूरे देश के किसान सड़क पर उतरे हैं।

भाकपा जिला सचिव रुचिर कुमार तिवारी ने कहा कि लोगों के बीच सरकार के प्रति गुस्सा है, महंगाई चरम पर है ।

बंदी में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के अलावे राजद, झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस, भाकपा माले, इप्टा, एआईएसएफ, आप और अन्य वामपंथी संगठन भाकपा के नगर सचिव सुरेश ठाकुर, फेकन उरांव, मुनाजरूल हक, पूरनचंद साव, अलाउद्दीन, राजीव रंजन, श्रद्धानंद तिवारी, आलोक तिवारी, अश्विनी त्रिपाठी, धीरेंद्र पांडेय, एआईएसएफ के जिला अध्यक्ष सुजीत पांडेय, मृत्युंजय तिवारी, कौशल किशोर, राजद के धीरेंद्र सिंह उर्फ पप्पू सिंह, विश्वनाथ राम घूरा, शमी अहमद, झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद सिन्हा, संजीव तिवारी, नसरुद्दीन खान, एवं अन्य कांग्रेस के जिला अध्यक्ष जयेश रंजन पाठक, रूद्र शुक्ला , भाकपा माले के जिला सचिव आरएन सिंह, सरफराज आलम, इप्टा के उपेंद्र मिश्रा, जुगल पाल, शत्रुघन कुमार शत्रु आदि शामिल थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button