लता मंगेशकर के स्वास्थ्य में सुधार

मुंबई: भारत रत्न लता मंगेशकर के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है लेकिन उन्हें आगामी 10 दिनों तक ब्रीच कैंडी अस्पताल में ही रहना होगा।

ब्रीच कैंडी अस्पताल की मेडिकल टीम के प्रमुख डॉ. प्रतीत समदानी ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि लता मंगेशकर को कोरोना के साथ ही निमोनिया भी है। इसी वजह से उन्हें अस्पताल में आईसीयू में रखा गया है।

डॉ. प्रतीत समदानी ने बताया कि लता मंगेशकर को कोरोना होने के बाद शनिवार को रात में ही ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

अस्पताल में ही लता मंगेशकर को निमोनिया होने का भी पता चला। लता की उम्र 92 वर्ष होने की वजह से उन्हें आईसीयू में रखा गया है और इलाज जारी है।

उन्हें आक्सीजन नहीं लगाया गया है और फिलहाल वेंटिलेटर की जरूरत नहीं लग रही है। तबीयत में तेजी से सुधार हो रहा है।

लता मंगेशकर की बहन उषा मंगेशकर ने बताया कि लता को उनके आवास पर एक कर्मचारी की वजह से कोरोना संक्रमण हो गया। आवास पर सभी कर्मचारियों की जांच की गई है।

उषा मंगेशकर ने कहा कि कोरोना की वजह से वे ब्रीच कैंडी अस्पताल में नहीं गई हैं, लेकिन वह अस्पताल में कोरोना को भी पराजित कर घर लौटेंगीं।।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button