भारत के 62.3 प्रतिशत लोगों का मानना, पीएम मोदी के नेतृत्व में विदेशी संबंधों में हुआ सुधार : सर्वे

नई दिल्ली: 29 मई (आईएएनएस)। भारत के 60 प्रतिशत से अधिक लोगों का मानना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया के विभिन्न देशों के साथ भारत के संबंधों में सुधार हुआ है। एबीपी-सी वोटर मोदी 2.0 रिपोर्ट कार्ड में यह आंकड़ा सामने आया है।

एबीपी-सी वोटर सर्वेक्षण में पाया गया है कि 62.3 प्रतिशत उत्तरदाताओं को लगता है कि मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के मौजूदा यानी दूसरे कार्यकाल के दौरान दुनिया के विभिन्न देशों के साथ देश के संबंधों में सुधार हुआ है।

यह सर्वे 23 मई से 27 मई के बीच देशभर में 12,070 लोगों के बीच किया गया था।

लगभग 16.9 प्रतिशत उत्तरदाताओं का मानना है कि अन्य देशों के साथ भारत के संबंध खराब हुए हैं और 17.1 प्रतिशत का मानना है कि अन्य देशों के साथ देश के संबंध समान रहे हैं। करीब 3.7 प्रतिशत लोगों ने इस सवाल पर कोई टिप्पणी नहीं की।

सर्वेक्षण में पाया गया कि 77.5 प्रतिशत शहरी और 55.8 प्रतिशत ग्रामीण उत्तरदाताओं को लगता है कि प्रधानमंत्री मोदी के तहत दुनिया के अन्य देशों के साथ भारत के संबंधों में सुधार हुआ है।

वहीं ग्रामीण इलाकों में ज्यादा लोगों को लगता है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में दुनिया के दूसरे देशों से रिश्ते खराब हुए हैं।

सर्वेक्षण के निष्कर्षों के अनुसार, ग्रामीण क्षेत्रों में 18.9 प्रतिशत उत्तरदाताओं का मानना है कि मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान दुनिया के बाकी हिस्सों के साथ संबंध खराब हुए हैं।

लगभग 21.2 प्रतिशत ग्रामीण और 7.6 प्रतिशत शहरी उत्तरदाताओं का मानना है कि अन्य देशों के साथ भारत के संबंध पिछले सात वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के तहत समान रहे हैं।

कुल 2.7 प्रतिशत शहरी और 4.1 प्रतिशत ग्रामीण उत्तरदाताओं ने प्रधानमंत्री मोदी के अधीन शेष विश्व के साथ भारत के संबंधों पर कुछ नहीं कहा।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button