आसान नहीं होगा ड्रोन उड़ाना, मोदी सरकार बना रही सख्त नियम

नई दिल्ली: जम्मू में वायुसेना स्टेशन पर हुए ड्रोन हमले के बाद, केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय भारत में ड्रोन के उपयोग को नियंत्रित करने के लिए नए नियम तैयार करने की तैयारी में है।

सार्वजनिक परामर्श के लिए नियमों का नया सेट 15 अगस्त के आसपास प्रकाशित हो सकता है।

उड्डयन मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, ये नियम मौजूदा मानव रहित विमान प्रणाली नियमों को अपडेट कर तैयार किया जा रहा है, जिन्हें इस साल की शुरुआत में ड्रोन के उपयोग को रेगुटेल करने के लिए जारी किया गया था।

नए नियमों से ‘मेड इन इंडिया’ एंटी-ड्रोन समाधानों का पता लगाने की उम्मीद है। ये जम्मू में विस्फोटों को अंजाम देने वाले और बाद में क्षेत्र में दिखाई दिए ड्रोन का पता लगाकर प्रभावी ढंग से उन्हें बेअसर कर देने वाले है।

ये संशोधित नियम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने पेश किए गए थे, जब उन्होंने 29 जून को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह और नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी से अपने आवास पर मुलाकात की थी और जम्मू में स्थिति और सामान्य सुरक्षा तैयारियों का जायजा लिया था।

सूत्रों के मुताबिक नए नियम कमोबेश तैयार हैं, लेकिन अभी इसमें कुछ काम होना बाकी है। नए नियमों के प्रकाशन की अनुमानित समय सीमा 15 अगस्त है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button