पूर्व शीर्ष राजनयिक अकबरुद्दीन कौटिल्य स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी के डीन नियुक्त

हैदराबाद: संयुक्त राष्ट्र में 2016 से 2020 तक भारत के स्थायी प्रतिनिधि के रूप में अपनी पहचान बनाने वाले पूर्व राजनयिक सैयद अकबरुद्दीन ने सेवानिवृत्ति के बाद अकादमिक क्षेत्र में कदम रखा है।

उन्होंने मंगलवार को कौटिल्य स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी, हैदराबाद ज्वॉइन किया है। स्कूल द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि पूर्व राजनयिक और भारतीय राजदूत संस्था में डीन के रूप में शामिल हो गए हैं।

सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, कौटिल्य स्कूल ऑफ पॉलिसी के साथ एक नई शुरूआत करने के लिए उत्साहित हूं।

एक ऐसे वातावरण का हिस्सा बनने के लिए उत्सुक हूं जो छात्रों को एक वैश्वीकृत दुनिया में सार्वजनिक नीतियों की प्रक्रियाओं, कार्यक्रमों और राजनीति को बेहतर ढंग से समझने में सक्षम बनाए।

बयान के अनुसार, तीन दशकों से अधिक के अपने करियर के साथ, श्री अकबरुद्दीन ने अब छात्रों और शिक्षाविदों की सेवा करने का विकल्प चुना है।

उन्होंने उन छात्रों के लिए एक शैक्षिक आश्रय बनाने पर अपना ²ष्टिकोण निर्धारित किया है।

संस्थान के संस्थापक निदेशक श्रीधर पब्बिसेटी ने कहा, उन्होंने कई बहुपक्षीय मंचों पर भारत की भागीदारी का नेतृत्व किया है और दुनिया में भारत की बढ़ती पहचान में बहुत योगदान दिया है और उनकी यात्रा में हमारे छात्रों के लिए कई मूल्यवान सबक हैं।

सैयद अकबरुद्दीन ने 2011 से 2015 तक भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के रूप में भी काम किया था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button