सुशील कुमार के मददगारों पर शिकंजा कसा

नई दिल्ली: दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में हुई पहलवान सागर राणा हत्याकांड की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस अब उस महिला को भी पूछताछ के लिए बुलाएगी जिसके स्कूटर का इस्तेमाल पहलवान सुशील कुमार कर रहा था।

अंतरराष्ट्रीय पहलवान सुशील पर हत्या, गैर इरादतन हत्या और अपहरण के आरोप हैं। सुशील को पिछले दिनों गिरफ्तार किया गया था।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि महिला को घटना के संबंध में पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा।

बुधवार को रोहिणी कोर्ट ने सुशील से तीन और दिनों की हिरासत में पूछताछ के लिए दिल्ली पुलिस की याचिका खारिज कर दी और उन्हें नौ दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

पुलिस सुशील कुमार को इस कथित हत्या का मुख्य अपराधी और मास्टरमाइंड बता रही है।

पुलिस का कहना है कि उसके पास इलेक्ट्रॉनिक सबूत हैं जिसमें उन्हें और उनके साथियों को सागर को लाठी से पीटते देखा जा सकता है।

गौरतलब है कि दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में चार मई की रात दिल्ली के मॉडल टॉउन थाने के इलाके में पहलवान सुशील कुमार और उसके साथियों ने कथित तौर पर एक फ्लैट से सागर राणा और उसके दोस्तों सोनू महाल और अमित कुमार का अपहरण कर लिया था और फिर छत्रसाल स्टेडियम में ले जाकर उनकी बेरहमी से पिटाई की थी।

इसमें सागर बुरी तरह घायल हो गया था और इलाज के दौरान सागर की मौत हो गई थी।

सुशील कुमार को 23 मई को मुंडका इलाके से गिरफ्तार किया गया था। सुशील फिलहाल पुलिस हिरासत में हैं।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच छत्रसाल स्टेडियम में हुए विवाद से संबंधित मामले की जांच कर रही है।

गिरफ्तारी से बचने के लिए उन्होंने गत 18 मई को रोहिणी कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, लेकिन अदालत ने उनकी यह याचिका खारिज कर दी थी।

वारदात के बाद पुलिस को स्टेडियम का एक सीसीटीवी फुटेज भी हाथ लगा था।

सीसीटीवी फुटेज में सुशील 20-25 पहलवानों और असौदा गिरोह के बदमाशों के साथ सागर और दो अन्य को पीटते दिख रहे हैं।

वीडियो में सभी लोग सागर को लात-घूंसों, डंडों, बैट व हॉकी से मारते दिख रहे हैं।

फुटेज में सुशील सागर व दो अन्य पीड़ितों पर हॉकी चलाते भी दिखे। सभी पहलवान और बदमाश स्टेडियम के सीसीटीवी कैमरे में कैद हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button