भारत

मेहनत-मजदूरी और कर्ज लेकर पत्नी को पढ़ाया, लेखपाल बनते ही पत्नी ने पति को किया टाटा बाय-बाय

Left Husband after getting Accountant Job : बहुचर्चित PCS ज्योति मौर्या (Jyoti Maurya) के बाद अब झांसी (Jhansi) से कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है।

यहां युवक ने कड़ी मेहनत मजदूरी कर अपनी पत्नी को पढ़ाया और पत्नी ने JOB मिलते ही पति को टाटा बाय-बाय कर दिया।

मामले में पति की मानें तो उसने लव मैरिज (Love Marriage) की थी और पत्नी को पढ़ाने के लिए उसने मेहनत मजदूरी की, लेकिन जब वह लेखपाल (Accountant) बन गई तो उसे छोड़कर चली गई।

पत्नी ने शादी की बात से किया साफ इनकार

पत्नी को वापस वह पुलिस से लेकर अधिकारियों के चक्कर भी लगा चुका है लेकिन उसे न्याय नहीं मिला। जब बुधवार को पत्नी को लेखपाल के पद के लिए नियुक्ति पत्र (Appointment Letter) मिल रहा था तो उसे वहां खोजने के लिए वह गया हुआ था, लेकिन खाली हाथ लौटना पड़ा।

वहीं जब इस बारे में लड़की से फोन पर बात की गई तो उसने कैमरे के सामने आने से इनकार करते हुए साफ कहा कि उसकी कोई शादी नहीं हुई है।

मंदिर में दोनों ने की थी लव मैरिज

पीड़ित शख्स झांसी शहर कोतवाली अंतर्गत बाहर बाबा का अटा में रहने वाला नीरज विश्वकर्मा है। नीरज विश्वकर्मा कारपेंटर (Carpenter) का काम करता है।

करीब 5 साल पहले झांसी के सत्यम कॉलोनी में रहने वाली रिचा सोनी (Richa Soni) से दोस्त के घर मुलाकात हुई थी।

दोनों ने ओरछा मंदिर (Orcha Temple) में जाकर शादी कर ली। जिसके बाद दोनों घर आ गए और हंसी-खुशी से रहने लगे।

इस दौरान लड़की रिचा ने उसे बताया था कि वह आगे पढना चाहती है। रिचा को पढ़ाने के लिए वह मजदूरी करता था।

मेहनत-मजदूरी और कर्ज लेकर पत्नी को पढ़ाया, लेखपाल बनते ही पत्नी ने पति को किया टाटा बाय-बाय

जब रिचा का सरकारी नौकरी लेखपाल (Government job Accountant) में चयन हो गया तो फिर उसके रुख बदल गए। लेखपाल के पद पर चयन होने के बाद वह उसे छोड़कर चली गई। तबसे लेकर अब तक वह लौटकर घर नहीं आई।

अपनी पत्नी को पाने के लिए युवक अधिकारी से लेकर पुलिस तक के चक्कर लगा चुका है, लेकिन पत्नी नहीं मिली।

यहां तक कि जब उसे पता चला कि उसकी पत्नी को कलेक्ट्रेट में नियुक्ति पत्र मिल रहा है तो वह उसकी एक झलक पाने के लिए वहां पहुंच गया, लेकिन वहां से भी खाली हाथ लौटना पड़ा।

वह नियुक्ति पत्र लेकर छिपते हुए निकल गई लेकिन उससे मुलाकात नहीं की।

मेहनत-मजदूरी और कर्ज लेकर पत्नी को पढ़ाया, लेखपाल बनते ही पत्नी ने पति को किया टाटा बाय-बाय

मेहनत मजदूरी और कर्ज लेकर पत्नी को पढ़ाया

पीड़ित पति ने कहा कि हमने रिचा को पढ़ाने के लिए बड़ी मुश्किलों का सामना किया। हम कारपेंटर है। इन्होंने जो चाहा उसने किया। हम 400-500 रुपए प्रतिदिन कमाते थे।

उसी से उसकी पढ़ाई कराई, कई बार तो कर्ज भी लेना पड़ा। आज हम दिन रात उसे याद करते हैं। रात में नींद भी नहीं आती है। आज वह कहती है कि हमारी शादी नहीं हुई है।

हमारे पास शादी की फोटो और प्रमाणपत्र है, क्या यह फर्जी हैं। हमारी ओरछा में शादी हुई थी फरवरी 2022 में। हम काफी परेशान है, उसके लिए दर-दर भटक रहे हैं। जहां एक ओर पति अपनी पत्नी को वापस पाने के लिए अधिकारियों के यहां चक्कर लगा रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर लड़की का कहना है कि उसने नीरज के साथ शादी ही नहीं की। उसने कहा कि यह उसे बदनाम करने की साजिश है।

x