तूतीकोरिन स्थित स्टरलाइट कॉपर संयंत्र को हमेशा के लिए बंद करने का आदेश

तूतीकोरिन स्थित स्टरलाइट कॉपर संयंत्र को हमेशा के लिए बंद करने का आदेश

मुंबई: तमिलनाडु सरकार ने आज वेदांत समूह की तूतीकोरिन स्थित स्टरलाइट कॉपर संयंत्र को हमेशा के लिए बंद करने का आदेश जारी किया। यह आदेश पिछले हफ्ते संयंत्र का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी में 13 लोगों की मौत हो जाने के बाद आया है।


सरकारी आदेश कहा गया है, `सरकार के संज्ञान में आया है कि तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अपने 9 अप्रैल, 2018 के आदेश में तूतिकोरिन में वेदांत लिमिटेड को तांबा संयंत्र चलाने की फिर से मंजूरी नहीं दी गई है। इसी के चलते 23 मई, 2018 को तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने भी संयंत्र को बंद करने और बिजली काटने का निर्देश दिया था।`

मुख्यमंत्री इडाप्पडी के पलनिस्वामी ने कहा कि उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम, अन्य मंत्रियों व अधिकारियों के साथ बैठक में लोगों की मांग को देखते हुए यह फैसला किया गया है। यह फैसला राज्य के विधानसभा सत्र की शुरुआत के एक दिन पहले आया है।
पलनिस्वामी ने कहा, `लोगों की मांग पर विचार करने के बाद उसे स्वीकार करते हुए फैक्टरी को स्थायी रूप से बंद करने का फैसला किया गया है। सरकार वह सब कुछ करेगी, जो लोगों की इच्छा है।` उन्होंने कहा कि इस तरह की कार्रवाई को लेकर कोई स्थगनादेश नहीं है। पनीरसेल्वम और अन्य वरिष्ठ मंत्री विरोध प्रदर्शन में घायल लोगों को देखने गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो घायल हुए हैं, उनका उचित इलाज किया जा रहा है और वे उपचार के लिए अपनी मर्जी से किसी भी अस्पताल जा सकते हैं।

इस घोषणा के बाद से जिला प्रशासन ने जिलाधिकारी संदीप नंदूरी के नेतृत्व में फैक्टरी पर सरकारी आदेश चस्पा कर उसे सील कर दिया। नंदूरी ने कहा, `पर्यावरण मंत्रालय के जीओ के मुताबिक इस संयंत्र को स्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। संयंत्र ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की सिफारिशों का अनुपालन नहीं किया है और उसे 9 अप्रैल 2018 से कामकाज बंद करने को कहा गया था। अब इसे स्थायी रूप से बंद कर दिया गया है।` उन्होंने कहा कि प्रशासन ने कंपनी के अधिकारियों को फैक्टरी न चलाने का आदेश दिया है।
कंपनी का दावा है कि स्टरलाइट कॉपर प्रत्यक्ष रूप से 3,500 और अप्रत्यक्ष रूप से 20,000 लोगों को रोजगार प्रदान करती है। यह देश की जरूरत के 36 प्रतिशत और वैश्विक स्तर पर 3 प्रतिशत संवर्धित तांबे की आपूर्ति करती है। स्टरलाइट कॉपर के मुख्य कार्याधिकारी पी रामनाथ से तुरंत संपर्क नहीं हो पाया।

स्टरलाइट कॉपर संयंत्र के विरोध में 22 मई को हुई व्यापक हिंसा में पुलिस गोलीबारी में 12 लोगों की मौत हो गई थी और पुलिस की गोली से घायल एक व्यक्ति की मौत अगले दिन हुई थी।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma