देवघर में भूख से मौत मामले की जांच करने पहुंचे अधिकारी

देवघर में भूख से मौत मामले की जांच करने पहुंचे अधिकारी

देवघर: उपायुक्त नैंसी सहाय के निर्देशानुसार चकरमा पंचायत स्थिति खड़ियाडीह गांव निवासी सुधीर सोरेन की कथित भूख से हुई मौत की जांच करने के लिए एक टीम गठित की गई।

टीम में अनुमंडल पदाधिकारी विशाल सागर, प्रखंड विकास पदाधिकारी, मोहनपुर एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, मोहनपुर शामिल हैं। जांच टीम शुक्रवार को गांव पहुंची।

टीम ने पता लगाया कि सुधीर सोरेन और उसकी पत्नी जीयामूनी मुर्मू के नाम से राशन कार्ड निर्गत है, जिससे वे प्रति माह पीडीएस दुकान से चावल का उठाव कर रहे थे।

साथ ही अप्रैल माह में 10-10 किलो करके दो बार व इस माह भी 20 किलो चावल पीडीएस दुकान से उठाव किया गया है। टीम ने वहां के आस-पास के ग्रामीणों से मौत के कारणों एवं परिस्थियों के संबंध में पूछताछ की।

ग्रामीणों ने बताया कि सुधीर सोरेन टीवी की बीमारी से ग्रसित था। वह पिछले कुछ दिनों से चलने-फिरने में भी असर्मथ था। सुधीर सोरेन की मौत प्राकृतिक रूप से बीमारी के कारण हुई है न कि अनाज के अभाव में।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री निःशुल्क चलंत वाहन गांवों भी चलाया जा रहा है। इसके माध्यम से सुधीर सोरेन के परिवार के सभी बच्चों को भी खाना खिलाया जा रहा था।

जांच के दौरान प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और उनकी टीम ने जब मृतक के परिवार के सभी सदस्यों पत्नी जीयामूनी मुर्मू (36), तीन पुत्री सुनीता सोरेन (14 ), सरिता सोरेन (10 ), पिंकी सोरेन (7 ) के स्वास्थ्य की जांच की गई तो पाया कि उनके परिवार के सभी सदस्य पूरी तरह स्वस्थ हैं।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma