रांची जिला प्रशासन ने किया ऐसा बर्ताव कि भड़क गये प्रवासी मजदूर, करने लगे नारेबाजी

रांची जिला प्रशासन ने किया ऐसा बर्ताव कि भड़क गये प्रवासी मजदूर, करने लगे नारेबाजी

डिजिटल डेस्क रांची : प्रवासी मजदूर अपने घर के लिए पैदल चलें या बस या ट्रेन से सफर करें, मगर परेशानियां उनका पीछा नहीं छोड़ रही हैं। महाराष्ट्र के पुणे से शुक्रवार को श्रमिक स्पेशल ट्रेन हटिया पहुंची।

इस ट्रेन से आये मजदूरों को हटिया रेलवे स्टेशन के बाहर कई परेशानियों का सामना करना पड़ा। ट्रेन से लगभग 1100 प्रवासी मजदूरों को हटिया तक पहुंचाया गया, लेकिन जैसे ही यात्री स्टेशन के बाहर निकले उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ा।

Uploaded Image

दरअसल इन यात्रियों को एक ही बस में क्षमता से अधिक भर-भरकर संबंधित जिलों के लिए भेजा जा रहा था। इसमें से देवघर जिले के यात्रियों ने इस पर आपत्ति दर्ज करा दी।

वहां मौजूद प्रशासन के लोगों ने यात्रियों को काफी भला-बुरा भी कहा, लेकिन फिर भी यात्री सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करते हुए ही बसों से सफर तय करने की बात करते रहे। अंत में देवघर वाली बस कुछ मजदूरों को लेकर रवाना हो गयी। इससे बचे मजदूरों ने हटिया रेलवे स्टेशन पर जोरदार हंगामा किया।

इस दौरान नाराज मजदूरों ने हटिया आरपीएफ कार्यालय के सामने भी प्रदर्शन किया। साथ ही जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

यात्रियों का आरोप था कि बिना सोशल डिस्टेंस मेंटेन करते हुए भेड़-बकरी की तरह मजदूरों को गंतव्य के लिए भेजा जा रहा है, जो सही नहीं है। इस मामले की जानकारी आरपीएफ ने जिला प्रशासन को दी।

Uploaded Image

उसके बाद मजदूरों को सही-सलामत घर भेजे जाने का आश्वासन दिया गया, तब जाकर मजदूर माने। खबर लिखे जाने तक सभी प्रवासी मजदूर हटिया रेलवे स्टेशन पर ही डेरा जमाये हुए थे।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma