लुईस मरांडी के क्रशर प्लांट में संदेहास्पद स्थिति में हुई मजदूर की मौत

लुईस मरांडी के क्रशर प्लांट में संदेहास्पद स्थिति में हुई मजदूर की मौत

दुमका: जिले के शिकारीपाड़ा थाना के पत्थर औद्योगिक क्षेत्र के हरिपुर गांव में स्थित एक क्रशर प्लांट में एक मजदूर की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। घटना शनिवार सुबह की है।

क्रेशर प्लांट के आस-पास के लोगों ने इसकी सूचना शिकारीपाड़ा थाना को दी। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी सह पुलिस इंस्पेक्टर वकार हुसैन दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

शव का शिनाखत रानीश्वर थाना क्षेत्र के बांसकुली गांव निवासी संतोष गोराई (30) वर्ष के रूप में हुई है। उधर मृतक के परिजनों को सूचना मिलते ही परिजन घटनास्थल पर पहुंचे।

मृतक की पत्नी फूट-फूट कर रोने लगी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार क्रेशर दुमका के पूर्व विधायक डॉ लुईस मरांडी का बताया जा रहा है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि संतोष गोराई कल तक प्लांट में काम कर रहा था। संतोष गोराई की पत्नी मीरा गोराई ने बताया कि रात 10 बजे संतोष ने फोन से उससे बात की थी। तब वह पूरी तरह स्वास्थ था।

पुनः सुबह 4ः30 बजे उसने अपनी पत्नी को फोन कर तबीयत खराब होने जानकारी दी। जिसके कुछ देर के बाद ही संतोष गोराई की मौत हो गई।

संतोष गोराई के मरते ही उक्त क्रेशर प्लांट के सभी कर्मचारी घटनास्थल से भाग खड़े हुए। बाद में शिकारीपाड़ा पुलिस ने घटनास्थल से पंचनामा कर शव को अपने कब्जे में ले लिया।

थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षक वकार हुसैन ने बताया कि यूडी केस दर्ज कर मामले की तहकीकात की जा रही है। मौके पर एसडीपीओ दुमका पूज्य प्रकाश ने पहुंचकर जांच कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

यहां बता दें कि शव को उठाने के लिए कोई भी व्यक्ति सामने नहीं आ रहा था। सभी को यह डर सता रहा था कि संतोष गोराई की मौत करोना से हुई है।

अहले सुबह संतोष की हालत जब गंभीर हुई तो प्लांट के मैनेजर ने इसकी सूचना मालिक को दी। उसके बाद वाहन मंगवा इलाज के लिए ले जाने लगा। इलाज को ले जाने के क्रम में संतोष को छींक आयी ।

जिससे वाहन का चालक सहित आस-पास के मदद कर रहे लोग संतोष को छटपटाता छोड़ भाग खड़े हुए। वाहन चालक भी मौके से फरार हो गया। करीब एक से दो घंटे तक संतोष छटपटाता रहा। बाद में तत्काल उपचार नहीं होने के स्थिति में संतोष की जान निकल गई।

घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। करीब करीब 2 बजे पोस्टमार्टम के लिए दुमका सदर अस्पताल लाया गया। हालांकि इस दौरान पूरे क्षेत्र में उक्त मृतक व्यक्ति के कोरोना से संक्रमित होकर मरने का अफवाह फैलाना माना जा रहा।

स्वास्थ्य प्रभारी शिकारीपाड़ा ने कहा कि प्रथम दृष्टया लगता है कि संतोष गोराई की मृत्यु अन्य कारणों से हुई हो। लेकिन प्रशासन की ओर से शव का कोरोना टेस्ट करने की अनुशंसा की जाएगी।

मामले में सिविल सर्जन अनंत झा ने बताया कि शव का जांच सेंपल लेने के बाद पोस्टमार्टम करवाया जायेगा। पोस्टमार्टम सेंपल लेने के बाद रविवार को होगी।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma