झारखंड में यहां ससुराल वालों ने की पीट-पीट कर दामाद की हत्या

झारखंड में यहां ससुराल वालों ने की पीट-पीट कर दामाद की हत्या

सरायकेला: जिले के राजनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत खोकरो गांव के वृधान टोला में धोबा हो (28) नामक युवक को उसके ससुराल वालों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी।

घटना दोपहर करीब बारह से एक बजे के बीच की है। घटना के वक्त घर में सिर्फ धोबा हो की बूढ़ी मां थी जबकि उसके पिता डिबरु हो किसी काम से जमशेदपुर गए थे। धोबा की पत्नी सुरु हो अपने दोनों बच्चों के साथ नीचे टोला में दूसरे के घर में थी।

वह वुधवार से पति के साथ झगड़ा होने के बाद घर पर नहीं आई थी। इधर घर पर पत्नी के बुलावे पर आए मायके वालों द्वारा धोबा की जमकर पिटाई किए जाने की बात बताई गई है। पिटाई के बाद अधमरे हालात में छोड़ कर ससुराल वाले भाग निकले।

धोबा हो वहीं अपने आंगन में तड़प रहा था। इसके बाद स्वजनों ने 108 एम्बुलेंस से उसे राजनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने धोबा को मृत घोषित कर दिया।

धोबा के मुंह से झाग भी निकल रहा था। शरीर के ऊपर कोई गंभीर चोट नहीं होने के कारण प्रथम दृष्टया डॉक्टर इसे जहर खाने से मौत होने की बता रहे हैं।

परंतु धोबा के माता पिता के अनुसार ससुराल से आए लोगों ने उसके साथ मारपीट की थी। उसे लात घूंसों से खूब मारा जिससे उसे अंदरूनी चोट पहुंची है।

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। इधर अभी तक मामला दर्ज नहीं हो पाया था। पुलिस आवेदन का इंतजार कर रही है। पुलिस चार पांच लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

मृतक धोबा की मां सरस्वती हो ने बताया कि दोपहर को बेटे के ससुराल से कुछ लोग आए थे। वे लोग नीचे टोला में मोटरसाइकिल रख कर पैदल ही घर पहुंचे।

उस समय उसका बेटा धोबा हो आंगन में खटिया में पेड़ के नीचे आराम कर रहा था। पत्नी दो दिन से नीचे टोला से घर नहीं आई थी।

मायके से उसके भाई लोग पहुंचे थे। फिर भी बहु घर नहीं आ रही तो खुद ही मेहमानों को लोटा पानी देने लगी। इतने में मेहमान बेटे को लात घूंसे मारने लगे।

उन्होंने पानी पिला पिला कर पीटा जा रहा था। मना करने के बाद भी वे लोग नहीं रुके। जब बेटा बेहोश होकर गिर गया तो मौके से सब भाग निकले।

इसके बाद स्वजनों को बुलाकर वह बेटा को अस्पताल लाई जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। उसने बताया कि धोबा मेरा इकलौता बेटा था। अब हमारा कोई सहारा नहीं रहा।


जानकारी के अनुसार वुधवार को धोबा हो और उसकी पत्नी सुरु के बीच झगड़ा हुआ था। मृतक के पिता डिबरु हो ने बताया कि वृधान टोला में ही चाची के घर में धोबा की पत्नी सुरु हो गाजीडीह गांव के मेसन मिस्त्री के साथ रेजा का काम कर रही थी।

वुधवार को धोबा की पांच वर्षीय बेटी पैसे के लिए जिद कर रही रही। धोबा के पास पैसा नहीं होने के कारण बेटी को मना कर रही थी।

इसी बात को लेकर पति पत्नी के बीच झगड़ा शुरू हो गया। दोनों में हाथपाई होने लगई। तभी गाजीडीह के मिस्त्री और जहां काम कर रही थी वहां की चाची ने मिलकर दोनों को छुड़ाया। इस बीच बचाव में मिस्त्री द्वारा भी धोबा को पीटने की बात बताई जा रही है।

इधर मृतक की पत्नी ने कहा कि पति ने उसका कंगन उतार दिया और घर आने पर मारने की धमकी दे रहा था।

इसीलिए दो दिन से घर नहीं।लौटी और जहां काम करती थी वहीं रहने लगी। उसके मुताबिक घटना के बाद मायके वालों को इसकी।जानकारी दी थी कि आकर पति को समझाए। लेकिन उन्होंने पति को नहीं मारा। पहले ही उसने कुछ खा लिया था।

इधर इस घटना के बाद भी पत्नी के आंखों में पति खोने का गम नहीं दिख रहा था। मायके वालों की पिटाई से पति की मौत हो गई। परंतु पत्नी के आंखों में एक बूंद आंसू नहीं दिख रहा था। दोनों के दो छोटे छोटे बच्चे हैं।

उसकी पत्नीअस्पताल में रखे पति के शव तक देखने नहीं गई। पति की शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा था, तब भी एक झलक तक पति का शव नहीं देखा।पुलिस उसकी पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma