रांची में ये लापरवाही पड़ न जाए भारी, सोशल डिस्टेंस तार-तार

रांची में ये लापरवाही पड़ न जाए भारी, सोशल डिस्टेंस तार-तार

डिजिटल डेस्क रांची: झारखंड में संक्रमण घटने की बजाय दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। वहीं 1 जून से लॉक डाउन के पांचवे चरण में कई क्षेत्रों में राहत दी गई जिसके तहत राज्य में छोटे कल कारखानों, दुकानों, ऑफिस और धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है।

अब सरकारी व निजी कार्यालयों के खुलने से लोग अपने कार्यालय या अपने कार्यस्थल पर जाने के लिए निकल तो रहे हैं लेकिन उनमें जागरूकता की कमी देखी जा रही है या यूं कहें कि लोग लापरवाही बरत रहे हैं।

Uploaded Image

रांची में शनिवार को मेन रोड में सोशल डिस्टेंस के नियम की धज्जियां उड़ाई गई। मेन रोड स्थित भारत बेकरी में लोग खरीदारी तो कर रहे थे लेकिन भूल गए थे कि झारखंड में कोरोना अपना पैर पसार रहा है।

अनलॉक 1 में दिए गए छूट का फायदा उठाना वो भी इस तरह काफी महंगा पड़ सकता है। वही मेन रोड में भी लोग एक दूसरे के साथ घूमने के लिए निकले, लेकिन यहां भी सोशल डिस्टेंस भूल गए।

इधर लगातार सरकार से लेकर पुलिस प्रशासन के लोग लोगों को सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की सलाह दे रहे हैं लेकिन एक तरफ इसकी अनसुनी करते लोग साफ़ दिखाई दे रहे हैं।

प्रशासन की सख्ती नहीं होने से यहां लोग रोजमर्रा की तरह ही सडक पर निकलते नजर आ रहे हैं।

Uploaded Image

सोशल डिस्टेंस महज एक शब्द

इस कदर होड़ मच रही है कि उनके लिए सोशल डिस्टेंस महज एक शब्द ही बनकर सिमटती जा रही है। जहां लॉकडाउन शुरू होने के पहले लोगों के अंदर कोरोना को लेकर जो दहशत थी वह अब कम होती जा रही है।

पहले लोग बाजार या अन्य जगहों पर जाने के समय काफी संयम के साथ आना-जाना करते थे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक दूसरे से परस्पर दूरी बनाकर रखते थे। वहीं अब इसका दूसरा रूप देखने को मिल रहा है।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma