सुप्रीम कोर्ट ने देवघर बाबाधाम में श्रद्धालुओं को जाने की दी इजाजत

सुप्रीम कोर्ट ने देवघर बाबाधाम में श्रद्धालुओं को जाने की दी इजाजत

न्यूज़ अरोमा रांची: शिवभक्तों के लिए शुक्रवार को बड़ी खुशखबरी मिली। सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए सीमित संख्‍या में देवघर बाबाधाम में श्रद्धालुओं को जाने की इजाजत दे दी।

कोर्ट ने कहा है कि पूर्णिमा और भादो में नई व्‍यवस्‍था लागू की जाए। कोर्ट ने ई-टोकन की व्‍यवस्‍था करने का भी सुझाव दिया। कोर्ट ने खास मौके पर शर्तों के साथ धार्मिक स्‍थलों को खोलने का सुझाव दिया है।

मालूम हो कि कोरोना महामारी के कारण इस साल श्रावणी मेला के आयोजन को रद्द कर दिया गया था। क्योंकि झारखंड में लाॅकडाउन की अवधि पहले 31 जुलाई और उसके बाद विस्तार करते हुए 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दी गयी है।

और इस दौरान धार्मिक स्थलों को बंद रखा गया हैं। इसी बीच 5 जुलाई से शुरू होने वाले श्रावणी मेले के आयोजन को भी सरकार ने रद्द कर दिया था।

जिसके खिलाफ गोड्डा के सांसद नीशिकांत दूबे ने राज्य सरकार के इस फैसले के खिलाफ पहले हाईकोर्ट और बाद में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसके बाद शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई में शिवभक्तों को बढ़ी खुशी मिली।

गौरतलब हो कि झारखंड में इन दिनों कोरोना का प्रकोप काफी बढ़ा हुआ है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद सरकार और प्रशासन के लिए बाबाधाम में पूजा अर्चना की व्यवस्था करना एक बहुत बड़ी चुनौती होगी।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma