हनी ट्रैप के चक्कर में रांची का युवक, एक लड़की के साथ बिताई थी रात ; अबतक है लापता

हनी ट्रैप के चक्कर में रांची का युवक, एक लड़की के साथ बिताई थी रात ; अबतक है लापता

रांची: राजधानी रांची से अपहृत नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के जूनियर इंजीनियर उदय वर्मा को गायब हुए आज 10 दिन हो गए हैं। इतनी दिन बीतने के बाद भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

रातू रोड इलाके के आनंद नगर में रहता है वो 6 सितंबर की देर शाम से लापता हैं। हालांकि, पुलिस जांच में जो जानकारी मिल रही है, उससे आशंका जताई जा रही है कि हनी ट्रैप के चक्कर में जूनियर इंजीनियर का कांके स्थित बोड़ेया से अपहरण किया गया है।

पुलिस जांच में पता चला है कि अक्षय बिहार के गया जिला स्थित अपने पैतृक गांव से कुछ बच्चों को परीक्षा दिलाने के लिए रांची पहुंचा था। बच्चों को परीक्षा दिलाने के बाद अक्षय ने अपहृत इंजीनियर उदय वर्मा के साथ बाइक से युवती के कहने पर एक घर में पहुंचा था।

पुलिस को अपहृत जूनियर इंजीनियर उदय वर्मा के पैतृक गांव के बगल में रहने वाले दोस्त अक्षय पर भी संदेह है। पुलिस ने संदिग्ध लड़की से भी पूछताछ की है, जिसके पास 6 सितंबर की देर रात उदय अपने दोस्त अक्षय को लेकर गया था।

पुलिस को संदिग्ध युवती ने बताया है कि रात में अक्षय उसके साथ रुक गया था, जबकि जूनियर इंजीनियर अपनी बाइक से वापस रातू रोड स्थित अपने रूम लौटने की बात कहकर वहां से चला था।

परिजनों ने लगाया पुलिस पर आरोप

परिजनों का कहना है कि मामले में पुलिस सही से काम नहीं कर रही है। जब भी उदय के बारे में पूछा जाता है पुलिस मामले की जांच की बात कहकर टाल देते हैं।

परिजन सात सितंबर से थाने का चक्कर काट रहे हैं, इसके बाद भी कोई नतीजा नहीं निकला है। पुलिस 7 सितंबर से ही सक्रिय हो जाती तो अपहृत का सुराग मिल गया होता।

सीसीटीवी फुटेज से सुराग लेने की हो रही पुलिस 

सुखदेव नगर थानेदार का कहना है कि इंजीनियर जिस दिन से लापता हैं, उस दिन से लेकर अभी तक का शहर के विभिन्न जगहों में लगे सीसीटीवी का फुटेज खंगाला जा रहा है।

पुलिस का कहना है कि फिरौती के लिए अपहरण किया गया होता तो फोन आ जाता, लेकिन परिजनों को फोन नहीं आया है।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma