कोविड के अनुभव ने मुझे मानसिक रूप से मजबूत बनाया है : मनप्रीत

कोविड के अनुभव ने मुझे मानसिक रूप से मजबूत बनाया है : मनप्रीत

बेंगलुरू: पिछले महीने कोविड-19 पॉजिटिव निकले भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा है कि उनके लिए अस्पताल में समय निकालना और आइसोलेशन में रहना काफी मुश्किल रहा था।

मनप्रीत उन पांच हॉकी खिलाड़ियों में शामिल थे जो कोविड पॉजिटिव पाए गए थे।

मनप्रीत ने कहा, मैंने महीने भर से कुछ नहीं किया और एक खिलाड़ी के लिए यह काफी लंबा समय है, खासकर तब जब हर दिन सुधार करने और सर्वश्रेष्ठ बनने की बात है।

उन्होंने कहा, ईमानदारी से कहूं तो जब शुरुआत में परिणाम आया था हम थोड़ा दबाव में थे। लेकिन हॉकी इंडिया के अधिकारियों ने, खासकर सीईओ एलेना नॉरमेन ने हमें पूरा समर्थन दिया और हमसे कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है, इस बात को लेकर सोचने की जरूरत नहीं है कि यह कैसे हमारे खेल पर प्रभाव डालेगा।

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि हमें पहले ठीक होने की जरूरत है और एचआई तथा साई सर्वश्रेष्ट ट्रीटमेंट देगा।

कप्तान ने कहा कि साई में दो सप्ताह आइसोलेशन में रहने के दौरान हॉकी इंडिया के अधिकारी उनकी लगातार देखभाल करते थे कि कहीं कोई कमी तो नहीं है।

उन्होंने कहा, हॉकी इंडिया हर दिन हमारी खैरियत पूछते थे कि हमें सही खाना मिल रहा, सही ईलाज हो रहा, हम अपने ऑक्सीजन के स्तर को चैक कर रहे हैं या नहीं।

उन्होंने कहा, कोचिंग स्टाफ और टीम के साथी भी वीडियो कॉल के माध्यम से हमारी पूछताछ करते रहते थे। इसने हमारी काफी मदद की मुझे लगता है कि इस अनुभव ने मुझे मानसिक तौर पर काफी मजबूत बना दिया है।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma