हमारा विश्वास, स्वास्थ्य के क्षेत्र में झारखंड की बच्चियां बनायेंगी अलग पहचान: हेमंत सोरेन

हमारा विश्वास, स्वास्थ्य के क्षेत्र में झारखंड की बच्चियां बनायेंगी अलग पहचान: हेमंत सोरेन

न्यूज़ अरोमा रांची: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा किआपका प्रशिक्षण पूरा हुआ, जिसकी परिकल्पना आप सभी ने की थी। वह भी पूर्ण हुआ। यह हर्ष का दिन है। बतौर नर्स नव जीवन का शुभारंभ आपके जीवन में हो रहा है।

यह सुखद है कि आप सभी पढ़ लिखकर झारखण्ड के अतिरिक्त देश के विभिन्न राज्यों में स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक नई कड़ी के रूप में जुड़ कर महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगी। आप सभी को ढेरों शुभकामनाएं।

अपने भविष्य को सुनहरा बनाने में यह प्रशिक्षण आपके लिए मील का पत्थर साबित होगा। मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की SPV प्रेझा फाउंडेशन द्वारा संचालित चान्हो नर्सिंग कौशल कॉलेज के छात्राओं के बीच नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में बोल रहे थे।

स्वास्थ्य के क्षेत्र ने बनायेंगी अलग पहचान

मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची के चान्हो के अतिरिक्त चाईबासा, सरायकेला, साहेबगंज में भी बच्चियों को नर्सिंग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जल्द वहां की भी हुनरमंद बच्चियां आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर होंगी। आने वाले समय में स्वास्थ्य के क्षेत्र में झारखण्ड की बच्चियां अलग पहचान बनायेंगी। यह हमारा विश्वास है।

प्रेझा का कार्य सरहनीय

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रेझा फाउंडेशन ने स्वास्थ्य सेवा में कड़ी जोड़ने का कार्य किया है। कोरोना संक्रमण के दौर में विश्व स्तरीय लेबोरेटरी की स्थापना प्रेझा द्वारा की गई।

कई युवक-युवतियों को अवसर प्रदान कर उनकी बेहतरी के लिए कार्य किया है। प्रेझा ने शिक्षा के साथ-साथ रोजगार से भी आच्छादित करने का कार्य किया है। इस प्रशिक्षण को पूर्ण कराने में एचडीएफसी बैंक की भूमिका भी सराहनीय है।

बेहतरी का प्रयास होता रहेगा

मंत्री अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण चंपाई सोरेन ने कहा कि चान्हो नर्सिंग कॉलेज की छात्राओं का प्रशिक्षण पूर्ण हुआ। आज उन्हें नियुक्ति पत्र मिल रहा है।

राज्य के विभिन्न जिलों में बच्चियों को प्रशिक्षण देने का कार्य निरंतर संचालित है। इसे और बेहतर करना है, ताकि गरीब परिवार की बच्चियों को अवसर मिले और वे आत्मनिर्भर बन सकें। इन छात्राओं को सेवा करने का अवसर मिलेगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री व मंत्रीगण ने प्रशिक्षण प्राप्त 35 बच्चियों को नियुक्ति पत्र प्रदान कर उनके सुखद भविष्य की कामना की।

इस मौके पर मंत्री श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग श्री सत्यानंद भोक्ता, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ राजीव अरुण एक्का, सचिव श्री अमिताभ कौशल, आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री हर्ष मंगला व नव नियुक्त नर्स उपस्थित थीं।


Please Support News Aroma!

news aroma