बोकारो में गुस्सायी भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव, थाना प्रभारी सहित कई चोटिल

बोकारो में गुस्सायी भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव, थाना प्रभारी सहित कई चोटिल

Bokaro : चीराचास टीओपी क्षेत्र अंतर्गत गांधाजोर बस्ती का इलाका रविवार को घंटों पुलिस छावनी में तब्दील रहा।

पिछले लगभग एक सप्ताह से लापता सुभाष राय नामक एक अधेड़ का शव तालाब से बरामद होने के बाद पुलिस की कथित शिथिलता को लेकर लोगों का आक्रोश फूट पड़ा। इसे लेकर गुस्सायी भीड़ और पुलिस आमने-सामने आ गयी।

Uploaded Image

लोगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए पुलिस की गाड़ी पर पथराव कर दिया। चास थाना प्रभारी चुनमुन सिंह जब दलबल के साथ शव बरामदगी की जांच करने घटनास्थल पर पहुंचे तो उन्हें गुस्सायी भीड़ के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा।

इसे भी पढ़े : पाकुड़ SP ने कहा- सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालों को हरगिज नहीं बख्शा जाएगा

भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर पत्थरों से हमला कर दिया। पथराव में थाना प्रभारी चुनमुन सिंह कई पुलिसकर्मी चोटिल हो गए।

घटना की सूचना मिलते ही एसपी पी. मुरुगन, सिटी डीएसपी ज्ञान रंजन सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी तत्काल मौके पर पहुंचे। स्थिति को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

सूत्रों के अनुसार पुलिस लाठीचार्ज में कई लोगों को चोटें आई हैं। घटना के बाद से इलाके में तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए वहां भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई।

पुलिस के खदेड़ने में मौत की आशंका

बताया जाता है कि 15-16 दिसंबर की मध्य रात्रि लगभग साढ़े 12 बजे पुलिस के गश्ती दल को देखकर तीन लोग भागने लगे। पुलिस ने उन्हें दौड़ाया। इनमें से दो तो भाग गए, जबकि एक तालाब में गिर गया।

आशंका है कि जिस सुभाष की लाश रविवार सुबह तालाब से मिली, उस रात वही उसमें गिर गया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

इसे भी पढ़े : रांची के आधे शहर को दो दिन नहीं मिलेगा पानी

सुबह सुभाष की लाश बरामद होने के बाद पुलिस को सूचना दी गई, परंतु पुलिस काफी देर बाद पहुंची। इससे लोगों का गुस्सा और भड़क गया।

15 की शाम से ही लापता था सुभाष

मृतक के परिजनों के अनुसार चास नगर निगम के वार्ड संख्या- 4 का सुपरवाइजर सुभाष राय बीते 15 दिसंबर की शाम से ही लापता था। वह शौच जाने की बात कहकर चादर और गमछे में ही घर से निकला था।

अगले दिन परिवार वालों ने उसकी काफी खोजबीन की परंतु उसका पता नहीं चला। 17 दिसंबर को इस बाबत उन्होंने चास थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया।

इसे भी पढ़े : झारखंड में भाजपा का 65 पार का नारा, धराशायी होने जा रहा: कांग्रेस

मृतक के पुत्र अमर कुमार राय ने पुलिस पर असहयोगात्मक रवैये का आरोप लगाते हुए कहा कि चास थाने में जाने पर उसे कुछ भी नहीं बताया गया।

Uploaded Image

मामले की कराएंगे निष्पक्ष जांच : एसपी

घटनास्थल पर पहुंचे एसपी पी. मुरुगन ने कहा कि 16 दिसंबर को पेट्रोलिंग गाड़ी को देखकर तीन लोग भागने लगे। अंधेरे के कारण दिखाई नहीं दिया। चार दिन बाद सुभाष राय नामक व्यक्ति की लाश तालाब से बरामद की गई है।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उसके बाद मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी। मृत्यु का कारण क्या है, यह जांच में पता चल जाएगा। इसी की जांच के क्रम में चास के थाना प्रभारी आए थे।

इसे भी पढ़े : रांची से अगवा छात्र राजस्थान पुलिस की मदद से बरामद

उनके वाहन पर असामाजिक तत्वों ने हमला कर दिया। गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया और थाना प्रभारी को भी चोट आई है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने यह कार्य किया है, उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

हाल ही में जेल से छूटा था मृतक

एसपी ने बताया कि मृतक सुभाष राय आपराधिक प्रवृत्ति का रहा है। हाल ही में वह जेल से एक मामले में छूटकर आया है।

उसके आपराधिक इतिहास की जांच कराई जा रही है। एसपी ने भीड़ और तनावपूर्ण स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस की तरफ से लाठीचार्ज करने की बात कही।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma